पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दिव्य गीता ज्ञान सत्संग:माेबाइल में आनंद लेने की बजाय महापुरुषों की जीवनी पढ़ें : ज्ञानानंद

पानीपत6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

माेबाइल चैटिंग में आनंद तलाशने की बजाय आनंदित जीवन जीने के लिए महापुरुषों की जीवनी चरित्र पढ़ें। गृहस्थ जीवन में इंसान कभी विचलित न हो, ऐसा संभव नहीं है। इंसान परिस्थितियों के अनुसार मन पर धैर्य रखें। प्रतिकूल परिस्थितियाें से निपटने का प्रयास करें और मन डगमगाए नहीं। ऐसा करने वाला व्यक्ति हमेशा ही आनंदित रहता है।

उक्त वचन सेक्टर-24 स्थित एमजेआर स्कूल में गीता कृष्ण कृपा सेवा समिति के 4 दिवसीय दिव्य गीता ज्ञान सत्संग के तीसरे दिन गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज ने कहे। उन्होंने जीवन काे हर परिस्थिति में धैर्य रखकर जीने का संदेश दिया। सत्संग समाराेह में श्री प्रेम मंदिर की महाराज कांता देवी मुख्य अतिथि रहीं। बाबा भूपेंद्र सिंह महाराज पटियाला वाले, पूर्व विधायक विनोद शर्मा, पूर्व मंत्री कृष्ण पंवार, नीति सेन भाटिया विशेष अतिथि रहे। पंडित वेद पाराशर ने मंच संचालन किया।

दुख आने पर कटु भाषा का प्रयाेग न करें
इंसान काे दुख आने पर कटु भाषा प्रयाेग नहीं करना चाहिए। जो प्राणी दुख आने पर कटु भाषा नहीं बोलता, निराश नहीं हाेता और आवेश की भाषा नहीं बोलता और अनुकूल स्थिति में अहंकार की भाषा नहीं बोलता वही स्थितप्रज्ञ कहलाता है।

बलवान वही जाे गिरे हुए काे ऊपर उठाए
सच्चा बलवान ताे वही है जो किसी को नीचे गिरे हुए को ऊपर उठाए। संत किसी शब्द के मोहताज नहीं हाेते। अंदर से जागी हुई चेतना का नाम ही संत है। वही संत है, जिसकी सुप्त चेतना जागृत हो गई हो। जाे किसी से भेदभाव नहीं रखता, वह है संत।

दुशवृतियाें में कछुए की तरह समेट लें अंग
कछुआ विपत्ति आने पर अपने अंगाें काे समेटकर खुद काे सुरक्षित रखता है। उसी प्रकार इंसान भी दुशवृतियों में अपने अंगाें काे समेटना सीख ले। सांसारिक वेदनाओं से दूर रहकर खुद को निर्लेप कर मन को दृढ़ रखे। कभी डगमगाए नहीं।

मन काे शांत रखने का दिया संदेश
महाराज ने कहा कि चाहे कैसी भी स्थिति आए, इंसान काे अपना मन शांत रखना चाहिए। जीव जब बाहरी स्थितियों से मन को शांत करके प्रभु चरणों में बैठने का प्रयत्न करता है ताे वह अंदर की अवस्था में जागृत हो जाता है। इंसान अपनी इंद्रियों को समेटकर अंदर की व्यवस्था में समेटकर रखना सीखें। ऐसा करने पर ही आनंद की स्थिति बनी रहेगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपके स्वाभिमान और आत्म बल को बढ़ाने में भरपूर योगदान दे रहे हैं। काम के प्रति समर्पण आपको नई उपलब्धियां हासिल करवाएगा। तथा कर्म और पुरुषार्थ के माध्यम से आप बेहतरीन सफलता...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser