रोशनी फाउंडेशन की अपिल:फाउंडेशन ने सीएम से दशहरे को राजकीय पर्व घोषित करने की मांग की

पानीपत18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सबकाे राेशनी फाउंडेशन के पदाधिकारी जानकारी देते हुए। - Dainik Bhaskar
सबकाे राेशनी फाउंडेशन के पदाधिकारी जानकारी देते हुए।
  • अलग-अलग संस्थाओं काे जिम्मेदारियां साैंपी हैं, सीएम काे साैंपेंगे ज्ञापन

सबको रोशनी फाउंडेशन द्वारा पानीपत के दशहरे को राजकीय पर्व घोषित करने की मांग की है। फाउंडेशन के पदाधिकारियों ने राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित एसडी हाई स्कूल में एक प्रेस कांफ्रेंस की। संस्थापक विकास गोयल ने कहा कि देश में कुल्लू का दशहरा में मैसूर का दशहरा जग प्रसिद्ध है। पानीपत का दशहरा अपनी सांस्कृतिक विरासत संजोए हुए हैं।

आज भी देश विदेश के लोग पानीपत के दशहरे को बड़े चाव से देखते हैं, किंतु आवश्यकता है इस पुरातन सांस्कृतिक धरोहर को एक नियोजित ढंग से प्रस्तुत करने की। इसके लिए फाउंडेशन आज से इस आंदोलन का आगाज किया है। सबको रोशनी फाउंडेशन ने घोषणा की पत्र के माध्यम से मुख्यमंत्री से मांग करेंगे, कि पानीपत के आयोजन को राजकीय पर्व के रूप में मनाया जाए।

संरक्षक रमेश माटा को जिम्मेवारी दी की सभी दशहरा कमेटियों के साथ तालमेल बिठाकर संयुक्त रूप से मांग रखने रखेंगे। संरक्षक कृष्ण देवड़ी को दायित्व दिया कि पानीपत के सभी मंदिरों की समिति के माध्यम से, अतुल गुप्ता को पानीपत के बाजार एसोसिएशन, सूरज दूरेजा सामाजिक संस्थाओं, अध्यक्ष सतवीर गोयल अध्यक्षा आरती सिंगला को विभिन्न सामाजिक संस्थाओं को इस मुहिम से जुड़ कर लिखित में आवेदन लेने की जिम्मेदारी साैंपी हैं।

इसी तरह अनिल गुप्ता को हनुमान सभाओं का हस्ताक्षर अभियान चलाने का जिम्मा दिया गया है। मेहुल जैन को आईटी के माध्यम से # टैग वर्ल्ड फेमस पानीपत हनुमान जी का दायित्व सौंपा गया। अक्षय जिंदल, राजीव तुली, ईश्वर अग्रवाल को भी अलग-अलग दायित्व सौंपा गया है।

खबरें और भी हैं...