पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑनलाइन ब्योरा:स्कूल मुखियाओं को 31 तक भरना होगा यू-डाइज डेटा, छुट्टियां हाेने से अटका काम

पानीपतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों के मुखियाओं को ऑनलाइन देना है ब्योरा
  • काेराेना काल के कारण बंद हैं सभी स्कूल, नहीं आ रहा है स्टाफ

सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों के मुखियाओं को यू डाइज डेटा ऑनलाइन भरना है। शिक्षा निदेशालय की ओर से इसके लिए 31 मई अंतिम तारीख जारी की थी। अब कोरोना से बचाव को लेकर स्कूल बंद हैं। ऐसे में स्कूल संचालकों के सामने संशय की स्थिति बन गई है।

वह मांग कर रहे हैं कि विभाग को यू-डाइज डेटा भरने की तारीख को बढ़ाना चाहिए, ताकि स्कूल खुलने पर डेटा भरा जा सके। सरकार की ओर से हर बार यू-डाइज डेटा ऑनलाइन ही स्कूल संचालकों से भरवाया जाता है। इसके निर्देश विभाग की ओर से जारी किए जाते हैं। शिक्षा निदेशालय इसको लेकर पहले ही पत्र जारी कर चुका है।

पत्र में बताया गया था कि स्कूलों में क्या सुविधाएं हैं। कितनी कमी है। कितने कमरे हैं, कमरों की जरूरत कितनी है। किस ब्लॉक में कितने स्कूल, बच्चों की संख्या समेत जानकारी मांगी जाती है। इसका मकसद यह होता है कि वर्तमान में चल रहे स्कूलों में क्या सुविधाएं हैं। बच्चों की संख्या के हिसाब से स्कूल पूरे हैं कि नहीं। अगर स्कूल पूरे नहीं होते हैं तो सरकार नए स्कूल खोलने पर विचार करती है।

स्कूल मुखिया अंतिम डेट बढ़ाने के लिए कर रहे हैं मांग

अभी तक स्कूलों की ओर से यू-डाइज डेटा नहीं भरा गया है। स्कूल मुखियाओं का कहना है कि जो डेटा देना है, वह अकेले नहीं भरा जा सकता है। इसके लिए स्टाफ के सहयोग की जरूरत होती है। उनकी सरकार से मांग है कि डेटा भरने में थोड़ा समय दिया जाए। स्कूल खुलने के बाद भी तारीख को बढ़ाया जाए, जिससे डेटा भरने का समय स्कूलों को मिल सके।

अप्रैल के अंतिम सप्ताह में भरा जाता है स्कूल का विवरण

हर साल अप्रैल माह के अंत तक इस डेटा काे भरवा लिया जाता है, लेकिन इस बार अप्रैल के शुरू से ही काेविड-19 संक्रमण के केस बढ़ने लगे थे। अप्रैल के मध्य में हालात ये हाे गए कि शिक्षा विभाग काे आनन-फानन में ग्रीष्मकालीन छुट्टियाें की घाेषणा करनी पड़ गई। स्कूल स्टाफ काे भी स्कूल न आने की हिदायत दे दी। इस कारण अप्रैल के अंत तक भरा जाने वाले यू-डाइज डेटा नहीं भरा जा सका।

मुख्यालय स्तर पर मांगा जाता है यू-डाइज डेटा: डीईओ

शिक्षा निदेशालय की ओर से डेटा भरने के लिए कहा गया है। डेटा विभागीय निर्देशाें पर भरा जाता है। इसके लिए डेट बढ़ाने का कार्य जिला नहीं मुख्यालय स्तर पर होता है। जिला स्तर पर विभागीय आदेशों का पालन कराया जाता है। यू-डाइज भरने को लेकर पहले ही निर्देश जिला स्तर पर जारी किए जा चुके हैं।

-रमेश कुमार, जिला शिक्षा अधिकारी।

खबरें और भी हैं...