मांग / सेमेस्टर प्रणाली बंद हो, परीक्षा शुल्क वापस मिले: एबीवीपी

X

  • एबीवीपी ने विद्यार्थियों को हो रही परेशानियों के संबंध में 7 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

पानीपत. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने मंगलवार को शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर को 7 सूत्रीय मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। इस ज्ञापन के माध्यम से एबीवीपी ने स्नातक स्तर पर गैर तकनीकी कक्षाओं में सेमेस्टर प्रणाली हटाने, परीक्षा शुल्क वापस करने, री-अपीयर के विद्यार्थियों की स्थिति स्पष्ट  करने की मांग की। 

विद्यार्थी परिषद के प्रांत मंत्री सुमित जागलान ने बताया कि विद्यार्थी परिषद की लम्बे समय से गैर तकनीकी कोर्सों में स्नातक स्तर पर सेमेस्टर प्रणाली को समाप्त करने की मांग है। उन्होंने कहा कि सेमेस्टर सिस्टम के कारण वर्ष में 2 बार परीक्षा होने से विद्यार्थियों का काफी वक्त सिर्फ परीक्षाओं में निकल जाता है।

इस कारण विद्यार्थी अन्य गतिविधियों में भाग नहीं ले पाते हैं। जिससे उसका सर्वांगीण विकास नहीं हो पाता। शिक्षा मंत्री को ज्ञापन सौंपते समय विद्यार्थी परिषद के प्रांत अध्यक्ष राजेंद्र धीमान, प्रांत मंत्री सुमित जागलान, प्रांत संगठन मंत्री श्याम सिंह राजावत और प्रांत कार्यकारिणी सदस्य पुरनूर विशिष्ट मौजूद थे। 

180 कक्षाओं का नियम नहीं हो रहा फॉलो
सुमित जागलान ने बताया कि वर्ष में दो बार परीक्षा होने के चलते यूजीसी की 180 कक्षाओं वाली यूजीसी की गाइड लाइन का भी पालन नहीं हो रहा है। प्रथम सेमेस्टर का विद्यार्थी कॉलेज में आकर दो से तीन महीनों में कॉलेज के वातावरण और पढ़ाई के साथ खुद का संतुलन बना पाता है तब तक उसकी परीक्षाएं आ जाती हैं। जिसके चलते उसे विषयों का पारंगत ज्ञान नहीं मिल पाता। 

परीक्षा नहीं तो शुल्क वापस दिया जाए
सुमित जागलान ने कहा कि जब परीक्षा नहीं हो रही हैं तो विद्यार्थियों से लिया गया परीक्षा शुल्क उन्हें वापिस किया जाना चाहिए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना