पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

किसान आंदोलन:पानी की बौछार पर किसानों की पुलिस पर पत्थरबाजी, फिर हाथ जोड़कर बोले- जनाब अब रहम करो, जाने दो

पानीपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दूसरे दिन भी 6 घंटे तक पूरी तरह से जाम रहा हाईवे, सिर्फ किसानों के वाहन ही गुजरे
  • शुक्रवार को अन्य रूटों पर 60 बसें चलीं, सुबह 7 बजे अम्बाला गई बस 12 घंटे बाद वापस आई

कृषि बिल के विरोध में दिल्ली में धरना देने जा रहे किसानों को पानीपत पुलिस ने पुलिस लाइन के पास रोकने का असफल प्रयास किया। पानी की बौछारें की। जीटी रोड बंद कर दिया। फिर भी किसान आगे निकल गए। पुलिस और किसानों के बीच 6 घंटे तक झड़प होती रही और किसान आगे निकलते रहे। पानी की बौछार के विरोध में किसानों ने पुलिस को पत्थर मारे। फिर हाथ जोड़कर किसान बोले- जनाब अब रहम करो। पुलिस और किसानों की रस्सा-कस्सी में सबसे अधिक परेशानी आम जनता को हुई।

पूरे 6 घंटे तक जीटी रोड पूरी तरह से बंद रहा। पानीपत बस डिपो के जीएम बालकराम ने बताया कि शुक्रवार को 60 बसें चलाई थीं। इनमें से एक बस सुबह 7 बजे अम्बाला कैंट भेजी थी। जोकि 12 घंटे बाद वापस आई। वहीं दिल्ली के लिए कोई बस नहीं चली। प्रतिदिन दिल्ली के लिए 35 बसें चलाई जाती हैं। जीएम ने बताया कि शनिवार को अगर रूट साफ मिला तो बसें दिल्ली भेजी जाएंगी। चाहे दिल्ली बॉर्डर तक ही जाएं। सुबह 8 दोपहर 2 बजे तक न एक भी वाहन पानीपत से दिल्ली की ओर जाने दिया न आने दिया। हालांकि किसानों के साथ एक-दो निजी गाड़ियां जरूर निकलीं।

पत्थर और ट्रक खड़े कर पुलिस ने रोका रास्ता

किसानों के जाने के बाद शाम को पुलिस ने पुलिस लाइन के पास पानीपत-दिल्ली लेन को खोल दिया, लेकिन दिल्ली बॉर्डर पर जाम रहा। पुलिस लाइन के पास पानीपत-दिल्ली रोड को पुलिस ने बंद कर दिया था। यह देख किसान सिवाह के पास पत्थर हटाकर रॉन्ग साइड में ही घुस गए। फिर पुलिस लाइन के पास झड़प शुरू हो गई। पानी की बौछारें व आंसू गैस के गोलों के बीच किसान आगे बढ़ते रहे। दोपहर 12 बजे पुलिस ने दिल्ली-पानीपत रोड पर पत्थर और तीन ट्रकों से रास्ता रोक दिया। थोड़ी झड़प के बाद किसानों ने कच्चे रास्ते से ट्रैक्टर निकालने शुरू कर दिए। देर शाम तक पंजाब की ओर से किसानों के इक्के-दुक्के ट्रैक्टर दिल्ली की ओर जाते रहे। पुलिस लाइन पार करने के बाद किसान समालखा में लगे नाके तोड़कर हल्दाना बॉर्डर पहुंचे।

हाथों से भर दिए गड्‌ढे

जब पुलिस ने वन-वे किए पानीपत-दिल्ली हाईवे को पत्थर और ट्रक खड़े करके जाम कर दिया तो किसानों ने कच्चे रास्ते से ट्रैक्टर निकालने शुरू कर दिए। लेकिन कच्चे रास्ते की मिट्‌टी धंसने लगी। इससे ट्रैक्टर फंसने लगे। इसके बाद किसानों ने कच्चे रास्ते में बने गड्ढों को हाथों से भरना शुरू कर दिया।

खुद छोड़े गोले से पुलिस के भी निकले आंसू

पुलिस लाइन के सामने किसानों के वाहनों पर लगातार आंसू गैस के गोले दागे जा रहे थे। इसी बीच हवाओं ने अपना रुख बदला। तेज विपरीत हवा के कारण पानी की बौछार किसानों तक उतनी ताकत से नहीं पहुंच पाई। पुलिस को भी आंसू गैस की मार झेलनी पड़ी। करनाल रेंज की आईजी भारती अरोड़ा और पानीपत एसपी मनीषा सहित पुलिसकर्मी मुंह ढकते रहे।

दमकल की गाड़ियां से भरा वाटर कैनन में पानी

पानीपत पुलिस लाइन के सामने एक ही वाटर कैनन से पानी की बौछार की जा रही थी। लगातार पानी की बौछार से बार-बार कैनन का वाटर खत्म होता रहा। कैनन को भरने के लिए दमकल विभाग की पांच गाड़ियां लगाई गई थी, लेकिन जाम होने के कारण दमकल की गाड़ियों को पहुंचने में समय लगा। जिसका फायदा किसानों को मिला।

किसानों, मान ग्रुप और चढ़ूनी ग्रुप पर केस दर्ज

सिपाही निशांत ने सेक्टर-29 थाने में केस दर्ज कराया कि आंदोलनकारियों को रोकने के लिए पुलिस लाइन के सामने बेरिकेडिंग की थी। मान व चढ़ूनी ग्रुप और काफी किसान ट्रैक्टर-ट्राॅली व गाड़ियों के साथ दिल्ली चलो के नारे के लगाते हुए आए। अफसरों ने समझाने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने। किसान बेरिकेडिंग को तोड़ते हुए चले गए। किसानों ने जीटी रोड को अवरुद्ध किया और प्रशासनिक अफसरों की ड्यूटी में बाधा पहुंचाई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे। आप कुछ ऐसे कार्य भी करेंगे जिससे आपकी रचनात्मकता सामने आएगी। घर ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser