पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Symptoms Of Weakness Are Being Found In The Patients Who Have Recovered From Kareena, The Elderly Are Having Trouble Walking

संक्रमण खत्म, कष्ट जारी:काेराेना से रिकवर हुए मरीजाें में मिल रहे कमजोरी के लक्षण, बुजुर्गों काे चलने-फिरने में हाे रही दिक्कत

पानीपतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत में 24 दिनाें में 90 में से 60 मरीजाें काे हुई वीकनेस, इसमें ज्यादातर बुजुर्ग शामिल - Dainik Bhaskar
पानीपत में 24 दिनाें में 90 में से 60 मरीजाें काे हुई वीकनेस, इसमें ज्यादातर बुजुर्ग शामिल
  • सिविल अस्पताल में 24 मई काे शुरू हुआ था पाेस्ट काेविड मरीजाें के लिए उमंग सेंटर

संक्रमण खत्म, कष्ट जारी है। कोरोना से रिकवर होने के बाद भी लोगों को कई तरह की परेशानी हो रही है। दरअसल कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद भी लोगों में थकान और कमजोरी की समस्या सबसे ज्यादा हो रही है। सबसे ज्यादा समस्याएं बुजुर्गों में मिल रही हैं। उनमें चलने-फिरने तक की दिक्कत सामने आ रही हैं। सीढ़ियां चढ़ने पर उनके ज्यादा पसीने आ रहे हैं और सांस भी फूल रही है।

सिविल अस्पताल के उमंग कोविड केयर सेंटर में 24 मई से लेकर अब तक 90 मरीज ऐसे पहुंचे, जिनकाे काेराेना से रिकवरी के बाद समस्याएं हुई हैं। ज्यादातर मरीजाें में थकान व कमजाेरी के लक्षण ही मिले हैं। उमंग सेंटर में करीब 65 से ज्यादा पुरुष और बाकी महिलाएं पहुंची हैं। इनमें करीब 40 से ज्यादा लाेग 50 प्लस उम्र वाले थे। इनमें ही थकान और कमजाेरी के लक्षण ज्यादा मिले हैं।

वहीं, एक 16 साल के युवक में भी बेचैनी और कमजाेरी के लक्षण मिले थे। सेंटर पर बैठी डाॅ. अनुराधा ने बताया कि राेजाना सेंटर में एक या दाे केस पहुंच रहे हैं। अब तक करीब 90 लाेग सेंटर पर पहुंचे। इनमें से दाे मरीजाें के छाती के एक्स-रे भी कराए हैं, बाकी मरीजाें काे फिजिशियिन व अन्य डाॅक्टराें के पास भेज देते हैं। इसके अलावा कई तरह के मरीजाें के टेस्ट कराएं जाते हैं।

काेराेना से रिकवर मरीजाें काे दिक्कत हो ताे जांच करवाएं : डाॅ. अनुराधा
क्लीनिक में बैठी डाॅ. अनुराधा ने बताया कि ओपीडी ब्लाॅक की पहली मंजिल पर बने कमरा नंबर 40 नंबर में एक पोस्ट कोविड सेंटर का शुभारंभ 24 मई काे हुआ था। तब से लेकर अब तक करीब 90 मरीज इलाज के लिए पहुंचे हैं। इस कोविड क्लीनिक में ऐसे मरीजों का इलाज किया जा रहा है जाे कोरोना से ठीक हाेने के बाद अपने शरीर में तकलीफ महसूस करते हैं या उनको शारीरिक रूप से कोई तकलीफ होती है। इस कोविड केयर सेंटर का नाम उमंग कोविड केयर सेंटर रखा गया है। इस सेंटर में कोरोना बीमारी से ठीक हुए लोगों से उनके अनुभव भी लिए जा रहे हैं।

8 डाॅक्टराें की टीम कर रही है काम
इस उमंग क्लीनिक में तीन आयुर्वेदिक डॉक्टर, दो मेडिकल ऑफिसर, एक मनोरोग विशेषज्ञ, एक मनोचिकित्सक विशेषज्ञ, एक हड्डी रोग विशेषज्ञ, एक डाइटिशियन डॉक्टर व एक फिजियोथैरेपिस्ट डॉक्टर की टीम काम कर रही है। इन डॉक्टरों द्वारा संबंधित रोगियों का इलाज किया जा रहा है। कोविड से ठीक हुए लोग किसी भी प्रकार की शारीरिक परेशानी होने पर यहां आकर कोविड कॉम्पलीकेशन क्लीनिक में चेक करवा सकते हैं। अस्पताल के कमरा नंबर 1 में रजिस्ट्रेशन स्लिप बनवानी पड़ेगी।

उमंग काेविड केयर सेंटर का ज्यादा प्रसार नहीं हाेने के कारण मरीजाें की संख्या बहुत कम
24 मई काे सिविल अस्पताल में उमंग काेविड केयर सेंटर शुरू किया गया था, तब से लेकर सिर्फ 90 मरीज ही पहुुंचे। सीधा अर्थ है, कि स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन ने इसका ज्यादा प्रसार नहीं किया। इसलिए मरीजाें की संख्या काफी कम है। क्याेंकि जिले में अप्रैल और मई के काेराेना केसाें की बात करें ताे जिले में 18 हजार से ज्यादा केस मिले थे। इनमें से करीब 17200 केसाें की रिकवरी भी हुई है। इन्हीं में से सिर्फ 90 केस अस्पताल में जांच के लिए पहुंचे। अगर इसका प्रचार-प्रसार ठीक से करते ताे ज्यादे मरीजाें काे इसका लाभ मिलता।

खबरें और भी हैं...