पानीपत में बादलों का डेरा:आसमान में छाए बादलों ने बढ़ाई किसान और आढ़तियों की चिंता, आज कई जिलों में बारिश की आशंका

पानीपत9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत में आसमान में छाए बादल। - Dainik Bhaskar
पानीपत में आसमान में छाए बादल।

दो दिन धूप के बाद पानीपत में मौसम ने फिर करवट ली है। मंगलवार को सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहे। हवाओं की रफ्तार 19 किलोमीटर प्रतिघंटा रही। बारिश की आशंका के चलते किसानों और आढ़तियों की चिंता बढ़ी हुई है। मौसम विभाग ने भी 20 अप्रैल तक मौसम के परिवर्तनशील बने रहने की संभावना जताई थी। मंगलवार सुबह 10 बजे तक अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस रहेगा।

बीते शुक्रवार से बदल रहे मौसम ने किसानों और आढ़तियों की चिंता बढ़ा रखी है। शुक्रवार शाम को तेज हवाओं के साथ बूंदाबांदी हुई थी। शनिवार और रविवार को भी बादल छाए रहे, लेकिन बारिश न होने से किसानों को राहत मिली। सोमवार को तेज धूप देखने को मिली तो मंगलवार को फिर से मौसम ने अन्नदाता को मायूस किया हुआ है।

बुधवार से मौसम के साफ होने की उम्मीद

मंगलवार सुबह से ही आसमान में बादलों ने डेरा डाला। ठंडी हवाओं ने गर्मी से राहत दी। हालांकि किसानों और आढ़तियों का अभी भी लाखों क्विंटल गेहूं खुले में पड़ा होने के कारण बादल उनके लिए आफत के समान हैं। मौसम विभाग ने 20 अप्रैल तक मौसम के परिवर्तनशील बने रहने की संभावना जताई थी। बुधवार से मौसम साफ होने की उम्मीद है।

उधर, मौसम वैज्ञानिक डॉ. DP दुबे ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के मूव होने और विंड पैटर्न बदलने के कारण मौसम बार-बार करवट ले रहा है। मंगलवार को भी पानीपत समेत प्रदेश के कई हिस्सों बारिश की संभावना है। इससे दिन और रात के तापमान में गिरावट होगी। बुधवार से एक बार फिर गर्मी अपने तेवर दिखाएगी।

खबरें और भी हैं...