पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • The Contractor And Officials Did Not Use The Drain Gang Properly, Had The Cleaning Been Done In 20 Mm Of Rain, Such A Situation Would Not Have Happened.

खोखले दावों से शहर पानी-पानी:ठेकेदार और अधिकारियों ने नाला गैंग का सही इस्तेमाल नहीं किया, सफाई होती ताे 20 एमएम बारिश में ही ऐसे हालात न होते

पानीपत4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत. नई सब्जी मंडी में निकासी नहीं हाेने से भरा पानी। - Dainik Bhaskar
पानीपत. नई सब्जी मंडी में निकासी नहीं हाेने से भरा पानी।
  • कैसे झेलेंगे माॅनसून - जाम पड़े नालों की सफाई न होने से ओवरफ्लो होकर सड़कों पर भरा पानी
  • भावना चौक पर 2 फीट तक भरा पानी, 4 घंटे के बाद सामान्य हुई स्थिति

एक दिन की 20 एमएम बारिश में ही शहर पानी-पानी हाे गया। नालाें की सफाई के नाम पर प्रति माह करीब 25 लाख रुपए खर्च करने के बाद भी शहर हल्की सी बारिश भी नहीं झेल पाया। 2 साल से लगे नाला गैंग का अगर सही प्रकार से इस्तेमाल हाेता ताे शायद यह दिन न देखना पड़ता।

पूर्व मेयर, पार्षद व शहरवासियाें का आराेप है कि अगर निगम अफसर धरातल पर नाला गैंग के काम की जांच करते और पार्षदाें से फीडबैक लेकर ठेकेदार के बिल पास करते ताे शायद 20 एमएम की बारिश में ही शहर की सड़काें पर बरसाती पानी नहीं ठहरता।

पार्षद संजीव कुमार दहिया गर्ग का कहना है कि मेरे वार्ड-21 में नहर पार की सभी काॅलाेनियाें में बुरा हाल हाे गया है। नालाें की सफाई समय रहते हाे जाती ताे आज ये दिन न देखना पड़ता। पार्षद सतीश सैनी व पार्षद अश्वनी ढींगड़ा का कहना है कि हमारे वार्ड में सालभर से नालाें की सफाई नहीं हुई। नगर निगम में सफाई के नाम पर लूट मची हुई है।

इन 5 प्रमुख क्षेत्राें से समझें शहर की बदतर स्थिति

भावना चौक: 2 फीट भरा पानी

वधावा राम काॅलाेनी में भावना चाैक पर 2 फीट से ज्यादा पानी जमा हाे गया। जबकि इस क्षेत्र से गंदे पानी की निकासी के लिए करीब 4 कराेड़ रुपए में नाला बनाया हुआ है, लेकिन यह गंदगी में जाम पड़ा है। चाैक में भरा पानी 4 घंटे के निकाला गया।

कुटानी राेड व आसपास का क्षेत्र

कुटानी राेड पर वाल्मीकि माेहल्ला, 11 वार्ड चुंगी से सैनी काॅलाेनी वाली सड़क व कुटानी राेड के आसपास वाली काॅलाेनियाें में गंदा पानी जमा हाेने से जीवन अस्त व्यस्त रहा। लाेगाें का बाहरी काॅलाेनियाें में आना-जाना भी मुश्किल हाे गया।

शुगर मिल काॅलाेनी

गाेहाना राेड से सतकरतार काॅलाेनी की ओर जाने वाली सड़क पर शनि मंदिर के सामने गंदा पानी भर गया। यहां पर बरसाती पानी की निकासी के काेई उचित प्रबंध नहीं किए गए।

एसडी काॅलेज राेड

यहां पर जीटी राेड से पीएनबी बैंक तक बरसाती पानी भर गया। इससे बाजार में दुकानदाराें व ग्राहकाें का आना-जाना मुश्किल हाे गया। हैंडलूम मार्केट में व्यापारी राकेश चुघ का कहना है कि प्रशासन समय रहते ध्यान देता ताे आज यह दिन नहीं देखना पड़ता।

सनाैली राेड व सब्जी मंडी क्षेत्र

सनाैली राेड पर कई जगहाें पर गंदा पानी भर गया। वहीं, सब्जी मंडी के पीछे वाले हिस्से में गाेशाला के पास वाली सड़क पर गंदा पानी भयंकर तरीके से जमा हाे गया।

इस लापरवाही के भाजपा नेता और निगम अफसर जिम्मेदार

पूर्व मेयर सुरेश वर्मा का कहना है कि शहर में बदहाली के जिम्मेदार नगर निगम अफसर व भाजपा नेता भी हैं। नाला गैंग का काम सिर्फ नालाें की सफाई करना है। फिर भी इसके कर्मचारियाेंे से अन्य काम करवाए जा रहे हैं। नाले जाम पड़े हैं और निगम अफसर ठेकेदार के बिल पास कर रहे हैं। मैंने खुद नगर निगम कमिश्नर व भाजपा नेताओं से नालाें की सफाई के लिए आग्रह किया था। मेरे समय में पार्षदाें की संतुष्टि से ही सफाई के बिल पास हाेते थे। अब निगम अफसर ठेकेदार से सांठगांठ कर खुद बिल पास करते हैं। भाजपा विधायक व मेयर इस लूट के खेल काे देखकर भी माैन हैं।

सबसे पहले नालाें की सफाई पर ही टीमाें काे लगाया

कमिश्नर, नगर निगम आरके सिंह ने कहा कि मैंने पानीपत में जॉइन करते ही सबसे पहले नालाें की सफाई पर ही टीम लगाई थी। साथ ही कर्मचारियाें का सख्त निर्देश भी दिए थे कि दिनभर के काम की रिपाेर्ट फाेटाे के साथ भेजनी है। यह परंपरा अब उसी तरह से चल रही है। जहां-जहां पानी भरा है, सबसे पहले उन्हीं क्षेत्रों में नालाें की सफाई कराई जाएगी। अब बिना काम की जांच-पड़ताल किए ठेकेदार काे पेमेंट भी नहीं की जाएगी।

खबरें और भी हैं...