आर-पार के मूड में हैं किसान:कृषि कानून का विरोध करने महीनों का राशन और आटा चक्की तक लेकर निकले हैं अन्नदाता

पानीपत2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
किसान आंदोलन के बारे में पानीपत में जानकारी देते पंजाब के किसान गुरमीत सिंह। - Dainik Bhaskar
किसान आंदोलन के बारे में पानीपत में जानकारी देते पंजाब के किसान गुरमीत सिंह।
  • गैस सिलेंडर और सूखा ईंधन भी है, पेट्रोल पंप बंद किए तो डीजल का भी है इंतजाम
  • किसान बोले- देश का पेट भरता है अन्नदाता, खाने-दाने की पूरी व्यवस्था, भूखे नहीं मरेंगे

कृषि बिलों के विरोध में पंजाब और हरियाणा के किसान पूरी तैयारी करके घर से निकले हैं। किसानों का यह आंदोलन एक-दो दिन का नहीं, महीनों का है। महिनों तक दिल्ली में डेरा डालने और पेट भरने के लिए सूखा राशन, गैस सिलेंडर के साथ सूखा ईंधन, ट्रैक्टर और अन्य वाहनों को चलाने के लिए पेट्रोल-डीजल के ड्रम तक साथ लेकर चले हैं।

पंजाब के गांव प्रीतकुल के गुरमीत सिंह ने बताया कि कृषि बिलों के विरोध में वह आर-पार की लड़ाई लड़ने निकले हैं। किसानों को अंदाजा है कि सरकार इतनी जल्दी मानने वाली नहीं है, लेकिन किसान भी महिनों तक दिल्ली में डेरा डालने की तैयारी से पहुंच रहे हैं। कृषि बिलों के साथ सरकार ने बिजली बिल 2020 भी किसानों पर थोपा है। किसानों की आय दोगुनी करने का दावा करने वाली सरकार ने किसानों कहीं का न छोड़ने की प्लानिंग की है। कृषि बिलों के विरोध में कई प्रदर्शन हुए, लेकिन सरकार की नींद नहीं टूटी। इस बार सरकार किसानों की ताकत देखेगी।

आटा चक्की भी है साथ
पंजाब के किसान आटा और दाल के साथ महिनों तक खपत के लिए अनाज भी लेकर चले हैं। आंदोलन में अधिक समय लगा तो अनाज पीसने के लिए आटा चक्की भी साथ ले रहे हैं। गोबर के उपलों और सूखी लकड़ी की कई ट्रालियां भरी हुई हैं। गैस सिलेंडर खत्म होने पर सूख ईंधन काम आएगा।

पेट्रोल-डीजल के ले रहे ड्रम
किसानों को आशंका है कि सरकार उनके वाहनों को दिल्ली से पहले रोकने के लिए रास्ते के पेट्रोल पंपों को बंद करा सकती है। सरकार के इस पैतरे का जवाब भी किसानों के पास है। वह ट्रालियों में पेट्रोल और डीजल के ड्रम साथ लेकर चल रहे हैं। ताकि पेट्रोल पंप बंद होने की स्थिति में भी वाहनों की रफ्तार न रुक पाए।

टैक्सी यूनियन ने दी सैकड़ों गाड़ियां
गुरमीत सिंह किसान होने के साथ पंजाब टैक्सी यूनियन के प्रधान है। गुरमीत ने बताया कि उन्होंने किसान आंदोलन में सैकड़ों गाड़ियां लगाई हुई है। इन गाड़ियों का ईंधन भी यूनियन ही वहन कर रही है। अब तक उनकी गाड़ियां दिल्ली के दो-दो चक्कर लगा चुकी हैं। गाड़ियों को पुलिस भी नहीं रोकती है।

हरियाणवियों का जताया आभार
पंजाब के किसानों ने हरियाणा के लोगों का आभार जताया है। किसानों ने बताया कि पानीपत टोल प्लाजा पर रात को रुकने के दौरान हरियाणा के किसानों ने खाने-पीने का सामान पहुंचाया। हरियाणा सीमा में प्रवेश के बाद स्थानीय लोगों ने जगह-जगह पानी की बोतलें, फ्रूटी और फल वितरित कर उनका हौंसला बढ़ाया है।