पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • The Interval Of 84 Days For The Second Dose Of 18+ Is Completed, Now The Load Will Increase By 1.5 Times; Before The Festival Everyone Will Have To Increase The Speed 7 Times For The Vaccine

भास्कर Original:18+ की दूसरी डोज के लिए 84 दिन का अंतराल पूरा, अब डेढ़ गुना लोड बढ़ेगा; त्याेहारों से पहले सबको टीके के लिए 7 गुना बढ़ानी होगी रफ्तार

पानीपत/ हरियाणा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।
  • प्रदेश में 189 दिन में 30.5% आबादी को लगी पहली डोज, यानी रोज 0.16% आबादी का वैक्सीनेशन

कोरोना की तीसरी लहर को लेकर वैज्ञानिकों की तरफ से लगातार अलर्ट किया जा रहा है। वैक्सीनेशन की रफ्तार तेज करने की सलाह दी जा रही है। लेकिन, हरियाणा को तीसरी लहर से बचाने के लिए वैक्सीनेशन की रफ्तार 7 गुना बढ़ानी होगी। इसके 2 प्रमुख कारण हैं। पहला- 1 मई से 18 से 44 साल के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू हुआ था और ज्यादातर को कोविशील्ड वैक्सीन लगी हुई है। अब इनकी दूसरी डोज के लिए 84 दिन का अंतराल 23 जुलाई को पूरा हो गया है।

ऐसे लोगों को अब दूसरी डोज के लिए मैसेज भी आने लगे हैं। इससे 18+ उम्र वालों की दूसरी डोज का लोड 24 जुलाई से करीब 2 गुना तक बढ़ जाएगा। दूसरा- त्योहारी सीजन। पिछले साल त्योहारी सीजन में बाजारों में भीड़ बढ़ी थी और कोरोना के केस तेजी से बढ़े थे। अब 7 अक्टूबर से नवरात्र के साथ त्योहारी सीजन शुरू हो जाएगा। यानी बाकी बचे 77 दिन में ही 100% आबादी को कम से कम एक डोज लगानी होगी। इसके लिए वैक्सीनेशन की स्पीड सवा 5 गुना तक बढ़ानी होगी। यानी पहली और दूसरी डोज दोनों को समानांतर चलाने के लिए वैक्सीनेशन की रफ्तार कुल 7 गुना तक बढ़ानी होगी।

समझिए...7 अक्टूबर तक सबको कम से कम एक डोज के लिए टीकाकरण का गणित-

18+ की दूसरी डोज के लिए सप्लाई दोगुनी हो

  • प्रदेश में पिछले 189 दिन में 87.41 लाख लोगों को पहली डोज लगी है। यानी रोज औसतन 46,249 लोगों को टीके लगे हैं।
  • 18+ वालों के लिए 1 मई से वैक्सीनेशन शुरू हुआ। 84 दिन में 32 लाख को पहली डोज लगी। यानी रोजाना 38,095 लोगों को टीके लगे।
  • 18+ वालों की दूसरी डोज का बोझ बढ़ेगा। अभी जिस क्षमता से रोज टीके लग रहे हैं, उनमें से 82% टीके 18+ वालों के लिए इस्तेमाल हो जाएंगे। इनके हिसाब से भी सप्लाई दोगुनी करनी होगी।

त्योहारी सीजन: 0.16% से बढ़ा रोज 0.83% को टीके लगें

  • इसी रफ्तार से वैक्सीन लगीं तो 100% आबादी को कम से कम एक डोज में 437 दिन लगेंगे।
  • 7 अक्टूबर से त्योहारी सीजन शुरू होगा। 77 दिन में सबको कम से कम एक डोज के लिए रोज 0.83% को टीके लगाने होंगे।
  • आबादी के हिसाब से वैक्सीनेशन की रफ्तार सवा 5 गुना बढ़ानी होगी।

वैक्सीन की किल्लत, कैसे बढ़ेगी रफ्तार?

प्रदेश में वैक्सीनेशन की स्पीड बढ़ाने की बात तो हो रही है, लेकिन केंद्र की ओर से अभी उतनी मात्रा में वैक्सीन ही सप्लाई नहीं हो पा रही। जून के तीसरे सप्ताह में हरियाणा को वैक्सीन की 7.36 लाख डाेज मिली थीं। इसके बाद किसी भी सप्ताह में वैक्सीन सप्लाई का आंकड़ा 6 लाख को भी नहीं छू पाया। जून के तीसरे सप्ताह में ही राज्य सरकार ने 2.90 लाख डोज मंगवाई थी। इसके बाद से केंद्र से ही वैक्सीन मिल रही हैं। पिछले सप्ताह में 5.13 लाख डोज ही मिल पाईं। हाल यह है कि 17 जुलाई को आखिरी बार 2.70 लाख डोज पहुंची थीं। यदि 7 सप्ताह में सप्लाई हुई 35 लाख डोज के हिसाब से गणना करें तो प्रदेश को हर दिन औसतन 70 हजार डोज की भी सप्लाई नहीं हो रही है।

खबरें और भी हैं...