• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • The Old Woman Returning Home From The Temple Was Hit From Behind By The Bull, Crushed By The Feet, Died During Treatment In The Hospital Due To Brain Injury

पानीपत में बेसहारा पशु ने ले ली जान:मंदिर से घर लौट रही वृद्धा को सांड ने पीछे से मारी टक्कर, पैरों से कुचला, दिमाग में चोट लगने से अस्पताल में इलाज के दौरान हुई मौत

पानीपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शीला का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
शीला का फाइल फोटो।

हरियाणा के पानीपत में बेसहारा पशु ने मंदिर से लौट रही 65 वर्षीय महिला को पीछे से जोरदार टक्कर मार दी। टक्कर के बाद सांड ने महिला को पैरों से कुचल दिया। आसपास के लोगों ने शोर मचाकर सांड को भगाया। परिजनों ने महिला को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। महिला के दिमाग में गहरी चोट लगने के कारण इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। सड़कों पर बेसहारा पशुओं को लेकर लोगों में रोष है। चांदनी बाग थाना क्षेत्र की उझा रोड स्थित एकता विहार कॉलोनी निवासी 65 वर्षीय शीला बुधवार को मंदिर से घर वापस लौट रही थी। जब वह अपने घर के पास पहुंची तो पीछे से ही लड़ते हुए आ रहे एक सांड ने उन्हें जोरदार टक्कर मार दी।

महिला के घर के बाहर लगी लोगों की भीड़।
महिला के घर के बाहर लगी लोगों की भीड़।

टक्कर लगने के बाद वह सड़क पर गिर पड़ी। तब सांड उन्हें कुचलता हुआ आगे निकल गया। आसपास के लोगों ने शोर मचाकर दोनों सांड को भागया। परिजनों ने घायल महिला को सनौली रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां कुछ देर इलाज के बाद महिला ने दम तोड़ दिया। डॉक्टरों ने बताया कि महिला के सीने और पेट के साथ दिमाग पर गहरी चोट लगी थी। जिस कारण उनकी मौत हो गई।

रोजाना हादसे हो रहे कोई सुनवाई नहीं कर रहा
महिला के पड़ोसी शिवकुमार ने बताया कि एकता विहार कॉलोनी में बेसहारा पशुओं को पूरा झंड़ घूमता है। कई बार हादसे हो चुके हैं। स्थानीय पार्षद से भी कई बार शिकायत की गई, लेकिन कोई हल नहीं निकला। नगर निगम की लापरवाही के कारण अब महिला की जान चली गई।

बिना पकड़े ही बंद कर दिया अभियान
सरकार के आदेश पर नगर निगम ने 1 सितंबर से बेसहारा पशुओं को पकड़ने का अभियान चलाया था। करीब 10 दिन के अभियान में 100 से अधिक पशुओं के पकड़ने के बाद अभियान ठंडे बस्ते में चला गया। जबकि पानीपत की सड़कों पर 5 हजार से अधिक बेसहारा पशु घूम रहे हैं। जिनके कारण रोजाना हादसे होते हैं।

खबरें और भी हैं...