• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • The Ready Oxygen Plant Is To Be Tried For 24 Hours, After That The Oxygen Will Reach 150 Beds, Halted Due To Lack Of Arrangement Of L&T Engineers And Additional Cylinders

पानीपत में अटका सांसों का ट्रायल:L&T के इंजीनियर व अतिरिक्त सिलेंडर की व्यवस्था न होने के कारण रुका प्लांट, 1 मिनट में हवा से तैयार होगी 1 हजार लीटर ऑक्सीजन

पानीपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिविल अस्पताल स्थित ऑक्सीजन प्लांट। - Dainik Bhaskar
सिविल अस्पताल स्थित ऑक्सीजन प्लांट।

हरियाणा के पानीपत जिले के सिविल अस्पताल में बनकर तैयार ऑक्सीजन प्लांट का ट्रायल तय तारीख के एक सप्ताह बाद भी नहीं हो सका है। प्लांट से एक मिनट में एक हजार लीटर ऑक्सीजन तैयार होगी। 150 बेड पर 24 घंटे सप्लाई की जा सकेगी, लेकिन अभी तक प्लांट का ट्रायल नहीं हो पाया है। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि ट्रायल के लिए करीब 50 बड़े सिलेंडरों की व्यवस्था करनी है।

ट्रायल में लार्सन एंड टर्बो कंपनी के इंजीनियर भी शामिल होंगे। दोनों के उपलब्ध होने के बाद जल्द ट्रायल पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है। कोरोना की दूसरी लहर के बाद ऑक्सीजन को लेकर खूब मारामारी मची। ऑक्सीजन की कालाबाजारी को रोकने के लिए पुलिस-प्रशासन को आगे आना पड़ा। ऑक्सीजन की कमी के चलते मरीजों की जान पर बन आई थी। पानीपत में कुछ निजी अस्पताल तो खुद की ऑक्सीजन तैयार करते हैं, लेकिन सिविल अस्पताल में रोजाना सिलेंडर लाने पड़ते हैं।

डिप्टी MS डॉ. अमित पेरिया।
डिप्टी MS डॉ. अमित पेरिया।

1 मिनट में हवा से तैयार होगी 1 हजार लीटर ऑक्सीजन

ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए सिविल अस्पताल में प्लांट तैयार किया गया है। NHAI और L&T की मदद से अस्पताल में प्लांट लगाया गया है। इस प्लांट में एक मिनट में हवा से एक हजार लीटर ऑक्सीजन तैयार की जा सकती है। जिससे अस्पताल के 150 बेड को हर समय सप्लाई जारी रहेगी। इसके अलावा अस्पताल के पास करीब 100 छोटे-बड़े सिलेंडर हैं।

सिलेंडर की व्यवस्था हुई, टीम का आना बाकी

सिविल अस्पताल के डिप्टी MS डॉ. अमित पेरिया ने बताया कि ऑक्सीजन प्लांट के ट्रायल के लिए अतिरिक्त सिलेंडरों की व्यवस्था हो चुकी है। अब टीम का आना बाकी है। L&T कंपनी से बात हुई है। जल्द ही ट्रायल पूरा किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...