डाॅक्टर डे आज / कोरोनाकाल में ड्यूटी दे रहे डॉक्टरों के संघर्ष की कहानी...डाॅ. स्वाति ने बेटी काे नानी के घर छोड़ा, माेबाइल जांच टीम में ड्यूटी, 4 माह से पति से भी नहीं मिलीं

डाॅ. स्वाति डाॅ. स्वाति
X
डाॅ. स्वातिडाॅ. स्वाति

  • डाॅ. हरीश काेराेना के 900 सैंपल ले चुके, तनाव दूर करने के लिए बैटमिंटन खेलते हैं

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 07:00 AM IST

पानीपत. डाॅ. स्वाति ने बताया...काेराेना लाेगाें के साथ-साथ डॉक्टरों की जिंदगी में भी किसी चुनाैती से कम नहीं है। लाेगाें के सैंपल लेने हैं, उनकाे जागरूक करना है और खुद काे भी काेराेना से बचाना है। इसके साथ-साथ आपकाे अपने परिवार काे भी इस महामारी से बचाना है। मेरी लाइफ में भी चुनाैती जब आई जब मेरी सैंपलिंग में ड्यूटी लगी। मार्च से अब तक 500 से ज्यादा सैंपल लिए हैं। इसके अलावा सेक्टर-25 अर्बन पीएचसी में ओपीडी में भी करती हूं।

अब इन दिनाें कई बार माेबाइल टीम में ड्यूटी लग रही है। हम अलग-अलग एरिया में जाकर सैंपलिंग कर रहे हैं। साथ ही लाेगाें काे जागरूक भी कर रहे हैं। परिवार में पति और एक ढाई साल की बच्ची है। पति गुड़गांव में साॅफ्टवेयर इंजीनियर हैं। वे वहीं रह रहे हैं। बच्ची मेरे पास है। लेकिन मैंने बच्ची काे पानीपत में नानी के घर छाेड़ा हुआ है।

क्याेंकि मैं जब भी काेराेना के सैंपल लेकर घर आती थी ताे खुद काे सैनिटाइज करने में 40-50 मिनट लगते हैं। कई बार बच्ची एक दम से मिलने के लिए आती है ताे मां हाेने के कारण मुझसे रहा नहीं जाता। इसलिए सुरक्षा काे देखते हुए उसकाे नानी के घर छाेड़ दिया।

डाॅ. हरीश ने बताया....जिले में जब काेराेना के मरीजाें के मिलने की शुरुआत हुई थी, उसके बाद डेंटल डॉक्टरों में सैंपलिंग करने में सबसे पहले ड्यूटी मेरी लगी थी। मार्च से अब तक काेराेना के 900 से ज्यादा सैंपल ले चुका हूं। जब मेरी काेराेना में ड्यूटी नहीं हाेती ताे मैं अस्पताल में लाेगाें के दांताें की जांच भी करता  हूं। मेरी पत्नी डाॅ. दिव्या पीएचसी ऊझा की इंचार्ज हैं। परिवार में दाे बच्चे भी हैं। एक 9 साल की बेटी है और 6 साल का बेटा।

डाॅ. हरीश 

मैं जब भी घर जाता हूं ताे करीब एक घंटा परिवार के सभी सदस्याें से दूर रहता हूं क्याेंकि काेई ये नहीं चाहता की आपकी वजह से आपके परिवार के किसी सदस्य काे ऐसी बीमारी हाे। इसके लिए अपने कपड़ाें काे गर्म पानी में डालता हूं। खुद काे तनावमुक्त रखने के लिए मैं बैटमिंटन भी खेलता हूं। स्वस्थ रहने के लिए वाे राेजाना याेग भी करते हैं। इसके साथ ही वाे लाेगाें काे काेराेना के बारे मे अपने यू ट्यूब चैनल पर जागरूक भी करता हूं। ताकि लोग इस महामारी का डटकर सामना करें। इस समय केस लगातार बढ़ रहे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना