नींद की झपकी लील गई 2 जान:ट्राला ड्राइवर काे आई झपकी, 3 काराें काे टक्कर मारकर बाइक सवार दो चचेरे भाइयाें काे राैंदा

पानीपत4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जीटी राेड पर दिवाना माेड़ के पास भीषण सड़क हादसा

जीटी राेड पर दिवाना माेड़ के पास शुक्रवार सुबह करीब 11:15 बजे दर्दनाक हादसा हुआ। तेज गति में ट्राला दाैड़ा रहे ड्राइवर काे नींद की झपकी अा गई। उसने आगे चल रही 3 काराें काे टक्कर मारते हुए बाइक सवार चचेरे भाइयाें काे कुचल दिया।

दाेनाें की माैके पर ही माैत हाे गई। उनके ऊपर से ट्राला गुजर गया। एक शव की हालत ऐसी थी कि खुरचकर अवशेष उठाने पड़े। टक्कर इतनी भीषण थी कि एक कार डिवाइडर को तोड़ते हुए दूसरी लेन तक पहुंच गई।

वहीं, हादसे के बाद ड्राइवर मौके पर ट्राला छोड़कर फरार हो गया। पुलिस ने एक मृतक के बेटे की शिकायत पर ट्राला ड्राइवर के खिलाफ तेज गति व लापरवाही से ट्राला चलाकर हादसा करने का केस दर्ज किया है।

माछरौली गांव निवासी 50 वर्षीय जयभगवान फेरी लगाकर कपड़े बेचने का काम करता था। वहीं, उसके ताऊ का बेटा 60 वर्षीय दयानंद पशुओं का काराेबार करता था। जयभगवान की बहू ने केस कर दिया था।

शुक्रवार काे पानीपत काेर्ट में तारीख थी। इसलिए जयभगवान और उसका चचेरा भाई दयानंद बाइक से पानीपत आ रहे थे। जयभगवान बाइक चला रहा था और दयानंद पीछे बैठे थे। रास्ते में जीटी राेड पर दिवाना माेड़ के पास समालखा की तरफ से तेज गति में आ रहे ट्राले ने 3 काराें काे टक्कर मारी, फिर बाइक काे टक्कर मारी। हादसे के बाद दाेनाें के ऊपर से ट्राले के टायर निकल गए और उनकी माैके पर ही माैत हाे गई।

भीषणता - डिवाइडर तोड़ दूसरी लेन तक पहुंची कार, शव के अवशेषों को खुरचकर उठाया-

सड़क से चिपक गया था शव

हादसे के बाद तीनाें कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हाे गई। ट्राले के टायर दयानंद व जयभगवान के ऊपर से गुजर गए। जिस कारण शवों की हालत ऐसी हो गई कि दोनों की पहचान करना भी मुश्किल रहा। इसमें दयानंद के शव की हालत ज्यादा खराब थी। उनका शव सड़क से चिपक गया था। बाद में पुलिस ने शव के अवशेषाें काे खुरचकर उठाया और अस्पताल पहुंचाया। वहीं, 3 काराें में सवार 3 लोगों को मामूली चोट आई हैं।

गांव में मातम का माहाैल, नहीं जले चूल्हे

सूचना के बाद गांव के काफी लाेग पानीपत पहुंचे। गांव में मातम का माहाैल पसर गया। पाेस्टमार्टम के बाद परिजन गांव में शव ले गए और अंतिम संस्कार किया। गांव में घराें में चूल्हे तक नहीं जले। दयानंद की एक बेटी नीलम व उससे छाेटे दाे भाई साेनू और प्रदीप हैं।

तीनाें शादीशुदा हैं। वहीं, जयभगवान के 4 बेटे रिंकू, वकील, राेहित व अभिषेक हैं। इसमें करीब 5 साल पहले रिंकू की शादी हुई थी। करीब दाे साल से उसकी पत्नी घरेलू विवाद के चलते मायके में है। 3 साल का बेटा रिंकू के पास है। बहू के केस करने पर ही जयभगवान चचेरे भाई दयानंद के साथ काेर्ट आ रहे थे।

वाहन भिड़ने से ट्रैफिक बाधित-

हादसे के बाद जीटी राेड पर क्षतिग्रस्त 5 वाहन पड़े थे, इसलिए यातायात बाधित हुआ। सूचना पर सेक्टर-29 थाना पुलिस माैके पर पहुंच गई और पांचाें वाहनाें काे जब्त करके कार्रवाई शुरू कर दी। थाने के एसआई रणबीर सिंह ने बताया कि जयभगवान का बेटा रिंकू दूसरी बाइक पर पीछे-पीछे चल रहा था। उसकी शिकायत पर ट्राला ड्राइवर के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। वह पानीपत जा रहा था। ट्राला ड्राइवर तेज गति से चला रहा था। उसे नींद की झपकी आ गई। जिससे हादसा हुआ।

जीटी राेड का काम अधूरा पड़ा

मछराैली के पूर्व सरपंच के पति बलराज, देशराज, पालेराम, अजीत, सुभाष, महाबीर आदि ने बताया कि जहां हादसा हुआ, उसके आसपास ट्रैफिक पुलिस बैरिकेड लगाकर चालान करती है। जबकि अभी सर्विस राेड और जीटी राेड का काम अधूरा पड़ा है।

उन्हाेंने आशंका जताई कि हाे सकता है कि पुलिस काे देखकर ड्राइवर ने ट्राला भगाया हाे। पुलिस अफसराें काे इस ओर ध्यान देना चाहिए कि जब तक जीटी राेड का काम पूरा नहीं हाे जाता, तब तक चालान न हाे।

खबरें और भी हैं...