पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आखिरी दिन:छूट के साथ प्रॉपर्टी टैक्स जमा कराने का आज आखिरी दिन, फाइलाें के काम की बजाय सिर्फ बिल ही हाेंगे जमा

पानीपतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत. नगर निगम में प्रापर्टी टैक्स जमा करवाते। - Dainik Bhaskar
पानीपत. नगर निगम में प्रापर्टी टैक्स जमा करवाते।
  • मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर व पार्षदाें की मांग पर कमिश्नर ने छूट का समय बढ़ाने के लिए मुख्यालय भेजा पत्र

नगर निगम में छूट के साथ प्रॉपर्टी टैक्स जमा कराने का बुधवार काे आखिरी दिन है। अधिक से अधिक लोग छूट का लाभ लेकर टैक्स जमा करा सकें, इसके लिए अधिकारियों ने सख्त निर्देश दिए गए हैं।

कमिश्नर वत्सल वशिष्ठ ने प्राॅपर्टी टैक्स ब्रांच के अधिकारियाें व कर्मचारियाें काे सख्त निर्देश दिए गए हैं कि छूट का ज्यादा से ज्यादा लाेगाें काे लाभ मिले, इसके लिए सिर्फ सही बिलाें से ब्याज काटकर और मूल राशि में छूट देकर ही टैक्स जमा करवाया जाए। किसी भी प्रकार की फाइलाें पर काेई काम नहीं करना है। उधर अधिकांश लोगों द्वारा टैक्स न जमा किए जाने के चलते मेयर और पार्षदों ने छूट की समय सीमा बढ़ाने की मांग की है।

अब तक जमा हुआ 23.72 कराेड़ रुपए का टैक्स

शहरवासियाें ने अबतक 23.72 कराेड़ का प्राॅपर्टी टैक्स जमा कराया है। मंगलवार काे 200 लाेगाें ने करीब 18.05 लाख रुपए जमा कराया है। हालांकि आधे से ज्यादा ने टैक्स नहीं जमा कराया है। इसलिए मेयर अवनीत काैर, सीनियर डिप्टी मेयर दुष्यंत भट्ट, पार्षद अनिल बजाज, पार्षद सुमन छाबड़ा व पार्षद चंचल डावर के पति याेगेश डावर आदि ने छूट की समय सीमा 30 अप्रैल या इससे आगे करने की मांग की है।

छूट का समय बढ़वाने के लिए भेजा पत्र : कमिश्नर

शहरवासियाें काे प्राॅपर्टी टैक्स में छूट की समय सीमा बढ़ाने की मांग मुख्यालय भेजी गई है। मेयर अवनीत काैर, सीनियर डिप्टी मेयर दुष्यंत भट्ट व अन्य पार्षदाें ने भी इसकी मांग रखी है। सभी की मांग शहरी स्थानीय निकाय के मुख्यालय व सरकार काे पत्र के माध्यम से भेज दी गई है। उम्मीद है कि सरकार मांग पर जरूर ध्यान देगी। वत्सल वशिष्ठ, कमिश्नर, नगर निगम, पानीपत।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें