इस तरह कैसे हारेगा कोरोना?:पानीपत में वैक्सीन खत्म, 18+ तो दूर सामान्य वैक्सीनेशन का भी संकट; अब तक 1.29 लाख का हुआ है टीकाकरण

पानीपत6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वैक्सीनेशन के नोडल प्रभारी डॉ. मनीष पाशी ने बताया कि सरकार को वैक्सीन की मांग भेजी हुई है। हालांकि, सरकार के पास भी वैक्सीन नहीं है।- फाइल। - Dainik Bhaskar
वैक्सीनेशन के नोडल प्रभारी डॉ. मनीष पाशी ने बताया कि सरकार को वैक्सीन की मांग भेजी हुई है। हालांकि, सरकार के पास भी वैक्सीन नहीं है।- फाइल।

पानीपत में 1 मई से 18+ का वैक्सीनेशन संकट में हैं। पानीपत में शुक्रवार को केवल 2500 डोज बची हैं, जो शुक्रवार को ही लग जाएंगी। ऐसे में 18+ वैक्सीनेशन अभियान के साथ सामान्य वैक्सीनेशन भी मुश्किल दिख रहा है। सरकार का दावा है कि यदि शुक्रवार रात को भी वैक्सीन मिलती हैं तो रात में ही अस्पतालों में पहुंचाकर शनिवार से 18+ का वैक्सीनेशन शुरू किया जाएगा।

पानीपत में अब तक 1.29 लाख लोगों को राहत का टीका लगाया जा चुका है। इनमें से 17 हजार को दोनों डोज दी जा चुकी हैं। शुक्रवार को पानीपत स्वास्थ्य विभाग के पास वैक्सीन की केवल 2500 डोज बची हुई हैं। ये डोज शुक्रवार को ही समाप्त हो जाएगी। ऐसे में पानीपत में 1 मई से 18+ के वैक्सीनेशन अभियान पर संकट है। जिले में लाखों की संख्या में 18+ वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं, लेकिन वैक्सीन न होने के कारण 18+ के साथ सामान्य वैक्सीनेशन भी नहीं हो पाएगा।

पहली बार खत्म होने को वैक्सीन, सरकार के पास भी नहीं
कोरोना वैक्सीनेशन अभियान शुरू होने के बाद यह पहली बार है कि जिले में वैक्सीन खत्म होने को हैं। उधर, वैक्सीनेशन के नोडल प्रभारी डॉ. मनीष पाशी ने बताया कि सरकार को वैक्सीन की मांग भेजी हुई है। हालांकि सरकार के पास भी वैक्सीन नहीं है। कंपनियों से चंडीगढ़ और दिल्ली वैक्सीन पहुंचाई जाती हैं।

खबरें और भी हैं...