पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मारपीट की घटना:काेराेना लैब में घुसा ट्रेनी, कुर्सी से उठाने पर डेटा एंट्री ऑपरेटर काे लाेहे के एंगल से पीटा

पानीपत24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिविल अस्पताल का मामला, घायल के हाथ में आए 7 टांके, आराेपी पर केस दर्ज

सिविल अस्पताल की काेराेना लैब में बेवजह घुसे ट्रेनी युवक ने कुर्सी से उठाने पर डेटा एंट्री ऑपरेटर के साथ मारपीट कर दी। लाेहे के एंगल से वार कर उसे चाेटिल कर दिया और जान से मारने की धमकी देकर भाग गया। घायल के हाथ व सिर में चाेट है। उसके हाथ में 7 से 8 टांके आए हैं। घायल की शिकायत पर सिटी थाना पुलिस ने ट्रेनी युवक पर मारपीट का केस दर्ज किया है।

जलालपुर प्रथम गांव निवासी विकास कुमार पुत्र सुरेश सिविल अस्पताल की काेराेना लैब में ठेके पर डेटा एंट्री ऑपरेटर के पद पर नियुक्त है। विकास ने बताया कि 28 मई दाेपहर करीब 3:30 बजे वह लंच करने के लिए चला गया। करीब 4 बजे लंच करने के बाद अपने रूम में आया ताे करनाल के बल्ला निवासी अनिल लांबा उसकी सीट पर बैठा था।

अनिल काे सीट से उठने के लिए बाेला ताे वह गाली-गलौज करने लगा। तब लैब के स्टाफ ने उसकाे कमरे से बाहर निकाल दिया। थाेड़ी देर बाद वह लाेहे का एंगल लेकर वापस आया और आते ही विकास पर हमला बाेल दिया। एंगल सिर पर मारने की काेशिश की ताे उसने बचाव में अपना हाथ आगे कर दिया।

आराेपी ने हाथ पर ही एंगल मारा और फिर सिर में चाेट मारी। लेब में माैजूद सागर कुमार ने उसे बचाया। तब आराेपी अनिल जान से मारने की धमकी देकर माैके से भाग गया। सुनकर अस्पताल के अन्य कर्मचारी माैके पर आ गए और उसकी मेडिकल जांच कराई।

काेराेना लैब में ट्रेनी अनिल क्याें गया?

विकास ने बताया कि अनिल लांबा अस्पताल की जनरल लैब में ट्रेनिंग करता है। उसे 9 से 10 माह हाे चुके हैं, जबकि वह सितंबर में ही काेराेना लैब खुलने पर भर्ती हुआ था। काेराेना लैब में प्रवेश पर पाबंदी है, फिर ट्रेनी वहां क्याें गया। संवेदनशील इलाका हाेने के बाद भी इस तरह से एंट्री करना गंभीर मामला है। मामले में सिविल अस्पताल के डिप्टी एमएस डाॅ. अमित ने बताया कि मामला गंभीर है। ट्रेनी पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...