• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Verification Of 1470 Applicants Hanging In The Municipal Corporation, Verification Is To Be Done Under The NULM Branch Of The Corporation, But The Employees Are Hanging

मुख्यमंत्री उत्थान याेजना के तहत कैसे मिलेगा राेजगार:नगर निगम में लटकी 1470 आवेदकाें की वेरिफिकेशन, ​​​​​​​निगम की एनयूएलएम शाखा के तहत हाेनी है वेरिफिकेशन, लेकिन कर्मचारी लटकाए बैठे

पानीपत16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला प्रशासन ने आर्य काॅलेज के प्रांगण में 7 दिन तक अंत्योदय याेजना के तहत मेला लगा जरूरतमंदों काे किया था आमंत्रित

मुख्यमंत्री परिवार उत्थान योजना के निगम में गरीबाें काे मिलने वाले राेजगार मे नगर निगम के कर्मचारी अड़ंगा डालकर बैठ गए हैं। याेजना के तहत 1470 जरूरतमंद शरहवासियाें ने आवेदन किए है। अब इन सभी आवेदकाें की वेरिफिकेशन नगर निगम की सिटी मिशन मैनेजमेंट यूनिट की नेशनल अर्बन लाइवलीहुड मिशन (एनयूएलएम) शाखा के कर्मचारियों काे करनी है।

ये कर्मचारी वेरिफिकेशन काे लटकाए बैठे हैं। जब तक वेरिफिकेशन का काम पूरा नहीं हाेगा तब तक आगे की प्रक्रिया नहीं चलेगी। हालात ऐसे ही रहे ताे जरूरतमंदों के अपने नए राेजगार शुरू या आगे बढ़ाने के सपने ताे सपनाें तक ही सिमट कर रह जाएंगे। नगर निगम में अधिकारियों के हाथाें से बेकाबू हाे चुके कर्मचारी इस काम काे जिम्मेदारी से पूरा करने की बजाय अपनी जिम्मेदारी दूसराें पर डाल रहे है।

गुरुवार काे एनयूएलएम शाखा की एक महिला कर्मचारी अधिकारियों व कर्मचारियों के केबिन में दिनभर चक्कर लगाते हुए बाेलती रही कि यह मेरी जिम्मेदारी नहीं है। यह लापरवाही इस समय में चल रही है, जब प्रदेश सरकार लेटलतीफी नहीं करने की सख्त आदेश दे चुकी है।

नगर निगम कमिश्नर काे लिखा पत्र

लापरवाह कर्मचारियों परेशान नगर निगम अधिकारियों ने कमिश्नर आरके सिंह काे भी इस संबंध में पत्र लिखा है। इसमें मांग रखी गई है कि संबंधित शाखा के कर्मचारियों की जिम्मेदारी तय की जाए। नगर निगम की प्राॅपर्टी टैक्स ब्रांच के कर्मचारियों काे इस में न फंसाया जाए। प्राॅपर्टी टैक्स ब्रांच में जनता के सबसे ज्यादा काम है। यहां के कर्मचारी अन्य कामाें में उलझाए जाएंगे ताे जनता के काम प्रभावित हाेंगे।

पोर्टल पर आ चुके हैं 1470 आवेदन
शहरवासियाें की ओर से नगर निगम के पोर्टल पर अब तक 1470 आवेदन आ चुके हैं। इन सभी अावेदनाें की वेरीफिकेशन एनयूएलएम शाखा की ओर से की जानी है। इसमें सभी आवेदकाें के दस्तावेजाें की जांच की जानी है। जिसमें आवेदनकर्ता का साक्षात्कार एवं वेरिफिकेशन होना है।

आवेदकाें काे इस प्रकार मिलना है लाभ
याेजना के तहत अब तक जितने आवेदकाें ने आवेदन किए हैं, उनमें से याेग्य पाए जाने वालाें काे नगर निगम की राष्ट्रीय आजीविका योजना के अंतर्गत लाभ मिलना है। इसमें स्वरोजगार के लिए योजना के तहत लोन दिलवाए जाएंगे। लाेन की राशि 2 लाख रुपए तक है। वहीं 10 महिलाओं के सेल्फ हेल्प ग्रुप बना उन्हें भी 10 लाख रुपए तक का लोन व प्रशिक्षण देना है।

लापरवाही बरतने वालाें पर हाेगी कार्रवाई

  • मुख्यमंत्री परिवार उत्थान योजना के अंतर्गत अब तक जितने भी आवेदन आए हैं, उन सभी की वेरिफिकेशन मेें तेज गति से काम किया जाएगा। अब वेरिफिकेशन में जिस किसी भी कर्मचारी की लापरवाही रही है, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। - आरके ‌सिंह, कमिश्नर, नगर निगम।
खबरें और भी हैं...