पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जीएसटी-वैट फर्जीवाड़ा:48 करोड़ के फर्जी बिल पर सरकार से 8.63 करोड़ का क्रेडिट इनपुट लेने वाला विकास जैन गिरफ्तार

पानीपत3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • क्राइम ब्रांच करनाल की टीम ने पकड़ा, जांच में पानीपत के 8 उद्यमियों के नाम भी सामने आए,
  • गिरफ्तारी की तलवार लटकी, ईटीओ दिविक शर्मा सहित 5 आरोपी अब तक पकड़े जा चुके हैं

पानीपत सेल टैक्स विभाग से जीएसटी नंबर लेकर 47.94 करोड़ के फर्जी बिल पर सरकार से 8.63 करोड़ का क्रेडिट इनपुट लेने वाले जींद के विकास जैन को क्राइम ब्रांच करनाल की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। जैन ने वधावाराम कॉलोनी में हनुमान इंटरप्राइजेज के नाम से जीएसटी नंबर लिया था। लेकिन जब टैक्सेशन इंस्पेक्टर जांच करने पहुंचे तो कोई फर्म मिली ही नहीं। इसके बाद 6 जनवरी 2019 को चांदनी बाग थाना में एफआईआर कराई गई थी। क्राइम ब्रांच करनाल की टीम ने जैन को अब गिरफ्तार किया है।

बड़ी बात यह है कि जीएसटी के फर्जीवाड़े में पानीपत शहर के 8 और उद्यमियों के नाम क्राइम ब्रांच की जांच में सामने आए हैं। इनकी गिरफ्तारी पर तलवार लटक गई है। ये लोग अभी कारोबार कर रहे हैं। मॉडल टाउन के तारकोल कारोबारी मोहित बठला को भी क्राइम ब्रांच की टीम ने नोटिस दिया था, लेकिन सेंट्रल जीएसटी की टीम ने बठला को उठा लिया था। बठला अभी भी जेल में बंद है।

ओटीपी से आरोपियों तक पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम

जीएसटी फर्जीवाड़े की जांच कर रही करनाल क्राइम ब्रांच के डीएसपी अमित दहिया ने बताया कि पानीपत जीएसटी ऑफिस में उपलब्ध रिकॉर्ड, जीएसटी में दिए गए ई-मेल एड्रेस, मोबाइल फोन की लोकेशन के साथ ही मोबाइल फोन और ई-मेल पर भेजे गए ओटीपी के माध्यम से आरोपियों तक पहुंचने में क्राइम ब्रांच सफल रही।'

जींद के विकास जैन ने वधावाराम कॉलोनी में हनुमान इंटरप्राइजेज के नाम से पानीपत सेल टैक्स विभाग से लिया था जीएसटी नंबर

बिना जीएसटी जमा कराए 105 करोड़ का क्रेडिट इनपुट लिया

पानीपत में क्राइम ब्रांच की जांच में अब तक 105 करोड़ रुपए का जीएसटी फर्जीवाड़ा सामने आ चुका है। कारोबारियों ने कागजों में ही कारोबार किया। सरकारी खाते में बिना जीएसटी जमा कराए ही 105 करोड़ का क्रेडिट इनपुट ले लिया। इसमें से अब तक 56 करोड़ की रिकवरी हो चुकी है, जो हरियाणा में सबसे बड़ी रिकवरी है।

पानीपत में 28 हजार से ज्यादा जीएसटी नंबर रजिस्टर्ड हैं

पानीपत सेल टैक्स ऑफिस में 28 हजार से अधिक जीएसटी नंबर रजिस्टर्ड है। जांच में अब तक 67 जीएसटी नंबर फर्जी मिल चुका है। गरीबों लोगों से कागज लेकर ये नंबर लिए गए। जांच में न किसी का नाम मिल रहा न पता। इसलिए इस फर्जीवाड़े में अफसर भी पकड़े गए हैं। वहीं अभी इस पूरे प्रकरण में आगे की कार्रवाई भी जारी है।

साहिल को पिछले महीने क्राइम ब्रांच ने पकड़ा था

लोहारी गांव का संदीप शर्मा, पानीपत शहर से गौरव, गोविंद शर्मा और साहिल। साहिल को पिछले माह दिसंबर में ही क्राइम ब्रांच ने पकड़ा था। जिसके पास से 2 लाख कैश और एक स्कार्पियो मिला था। इसके अलावा एक्साइज एंड टैक्सेशन ऑफिसर (ईटीओ) दिविक शर्मा को भी 4 दिसंबर को गिरफ्तार किया गया था, जो अभी सिवाह जेल में बंद है।

फर्जीवाड़े में शामिल उद्यमियों की होगी गिरफ्तारी : डीएसपी

जांच में पानीपत में कारोबार कर रहे 7-8 उद्यमियों के नाम सामने आए हैं। इन्हें भी पकड़ने की कार्रवाई शुरू कर दी गई। जल्द ही कुछ गिरफ्तारियां होगी। मोहित बठला को भी हमने ट्रेस कर लिया था। उसे नोटिस दिया था। लेकिन गुजरात के केस में बठला को पहले ही सीजीएसटी की टीम उठा ले गई थी।
-अमित दहिया, डीएसपी, क्राइम ब्रांच करनाल

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें