पानीपत में सांसों के ब्लैकमेलर पकड़े:3490 के रेमडेसिविर को 35 हजार रुपए में बेच रहे थे, 19 इंजेक्शन के साथ तीन गिरफ्तार

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस गिरफ्त में आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस गिरफ्त में आरोपी।
  • CIA-1 पुलिस ने सेक्टर 13-17 थाना क्षेत्र के सरकारी डिग्री कॉलेज के पास की गिरफ्तारी

ऑक्सीजन और बेड की किल्लत के बाद पानीपत में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी का मामला सामने आया है। CIA-1 पुलिस ने पानीपत के मेडिकल स्टोर संचालक समेत तीन लोगों को 19 इंजेक्शन के साथ पकड़ा है। आरोपियों ने बताया कि वह चंडीगढ़ से इंजेक्शन लाते थे। पुलिस ने गुप्त सूचना पर मंगलवार को तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।

पानीपत में ऑक्सीजन का टैंकर चोरी होने के बाद कोरोना काल में सबसे जरूरी रेमडेसिविर इन्जेक्शन की कालाबाजारी सामने आई है। CIA-1 प्रभारी इंस्पेक्टर राजपाल सिंह ने बताया की मंगलवार को सेक्टर 13-17 थाना क्षेत्र के सरकारी डिग्री कॉलेज के पास रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की सूचना मिली।

सूचना के आधार के जिला ड्रग कंट्रोलर अधिकारी विजय राजे के साथ दबिश दी गई। मौके से I-20 कार में सवार तीन युवकों से पूछताछ की गई तो उनके पास रेमडेसिविर के 19 इंजेक्शन बरामद हुए है। पुलिस ने बताया कि इंजेक्शन को 35-35 हजार रुपए में बेचा जा रहा था।

मेडिकल स्टोर संचालक समेत तीन गिरफ्तार
इंस्पेक्टर राजपाल सिंह ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों में कलंदर चौक निवासी केशव उर्फ कन्नू मेडिकल स्टोर संचालक है। वह अपने दोस्त सुनील और सुमित के साथ मिलकर रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबारी करने में लगा है। अभी तक की जानकारी के अनुसार इंजैक्शन अमृतसर से लाते हैं और पानीपत के निजी अस्पताल में सप्लाई करते हैं। आरोपियों को रिमांड पर लेकर आगे की पूछताछ की जा रही है।

खबरें और भी हैं...