भाकियू ने पानीपत में बनाई संसद कूच की रणनीति:22 जुलाई से शुरू होगा संसद कूच, पुरुषों के साथ महिला किसान भी लेंगी हिस्सा, 5 सितंबर को UP मुजफ्फरनगर में महापंचायत

पानीपत10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत के किसान भवन में पदाधिकारियों की बैठक हुई। - Dainik Bhaskar
पानीपत के किसान भवन में पदाधिकारियों की बैठक हुई।

भारतीय किसान यूनियन ने 22 जुलाई से 13 अगस्त तक होने वाले संसद कूच की गुरुवार को पानीपत में रणनीति बनाई है। प्रदेश अध्यक्ष रतन मान ने बताया कि संसद कूच में रोजाना 200 किसान शामिल होंगे। 26 जुलाई और 9 अगस्त को महिलाएं भी कूच में हिस्सा लेंगी। UP और उत्तराखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा को हराने के लिए 5 सितंबर को UP के मुजफ्फरनगर में राष्ट्रीय किसान महापंचायत का आयोजन किया जाएगा।

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 22 जुलाई से होने वाले संसद कूच को लेकर गुरुवार को पानीपत के किसान भवन में भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष ने सभी जिला प्रधानों के साथ बैठक की। बताया कि संसद कूच में रोजाना 200 किसान भाग लेंगे और सभी संगठनों से 5-5 किसान शामिल होंगे। 26 जुलाई व 9 अगस्त को महिलाएं भी संसद कूच करेगी। कूच में भाग लेने वाले किसानों के संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा पहले आई-कार्ड बनाये जाएगे। इसके लिए भाकियू जिला प्रधानों से फोटो व विवरण मांगा है। संसद कूच के लिए ड्यूटी लगाई गई है।

5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में महापंचायत

रतन मान ने बताया की संयुक्त किसान मोर्चा ने UP व उत्तराखंड में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर मिशन यूपी व उत्तराखंड की शुरुआत की है। इसका आगाज UP के मुज्जफरनगर में 5 सितंबर को होने वाली राष्ट्रीय किसान महापंचायत में किया जाएगा। उन्होंने कहा की संयुक्त किसान मोर्चा UP व उत्तराखंड में भाजपा को हराने का काम करेगा, लेकिन कोई चुनाव नहीं लड़ा जाएगा। उन्होंने महापंचायत के लिए पदाधकारियों को जिम्मेदारी सौंपी है।

इस दौरान भाकियू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामफल कंडेला, प्रदेश संगठन सचिव श्याम सिंह मान, प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेंद्र सिंह गुम्मन, युवा प्रदेशाध्यक्ष रवि आजाद, युवा प्रदेश उपाध्यक्ष कमल गुर्जर, बलदेव सिंह, प्रताप माजरा, कुलदीप बलाना, सुभाष गुर्जर, विक्रम राणा, यशपाल राणा, मेवा सिंह आर्य, जसबीर जैनपूर, प्रदेश कोषाध्यक्ष सतपाल दिलोवाली, महेंद्र सहारन, नेकी राम मौजूद रहे।