पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Work Will Be Sent In Two Days To Send To The Gowansha Cow Sanctuary Of The City, Animal Husbandry Department Will Tagging

दौरा:शहर के गोवंश गो अभयारण्य में भेजने का काम दो दिन में होगा शुरू, पशुपालन विभाग करेगा टैगिंग

पानीपत14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पानीपत. मेयर अवनीत कौर नैन अभयारण्य का निरीक्षण करतीं हुईं।फोटो | भास्कर
  • नैन गो अभयारण्य में अधिकारियों के साथ गोवंशों के चारे-पानी की व्यवस्था देखने पहुंचीं मेयर
  • 27 अगस्त को दैनिक भास्कर में खबर प्रकाशित होने पर सदन की बैठक में प्रमुखता से उठा था मुद्दा

शहर से बेसहारा गोवंश भेजने का काम 2 दिन में शुरू हाेने की उम्मीद जागी है। मेयर अवनीत कौर ने अधिकारियों के साथ सोमवार को नैन गो अभयारण्य पहुंचकर गाेवंशों के चारे-पानी की व्यवस्था का जायजा लेनी पहुंची। इस दौरान अभयारण्य संचालन समिति के साथ बैठक कर शहर में घूम रहे बेसहारा गोवंशों को भी आसारा देने पर चर्चा की। मेयर दोपहर 1:00 बजे गो अभयारण्य पहुंची।

मेयर के आग्रह पर संचालन समिति शहर के बेसहारा गोवंश आसारा देने को राजी हो गई, लेकिन चारा व रख रखाव व्यवस्था बेहतर बनाए रखने के लिए बजट की भी मांग रखी। इस पर मेयर ने हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। दैनिक भास्कर बेसहारा गोवंश के चारे-पानी व इनसे होने वाली शहरवासियाें की परेशानियों को लगातार प्रकाशित करता आ रहा है। इसी कड़ी में 27 अक्टूबर को दैनिक भास्कर ने पानीपत भास्कर के संस्करण में प्रमुखता से खबर प्रकाशित की थी। प्रशासन के सामने सवाल खड़ा किया था कि पशुओं की समस्या पर ध्यान दिया जाए।

प्रतिमाह 2 लाख रुपए उपलब्ध कराने का दिलाया भरोसा

मेयर अवनीत कौर ने गो अभयारण्य समिति को भरोसा दिलाया कि गोवंशों के लिए प्रशासन, सरकार व समाज सेवियों से हर तरह से मदद दिलाने की भरपूर कोशिश की जाएगी। साथ ही मेयर ने भरोसा दिलाया कि गोवंशों के लिए वह प्रति माह 2 लाख रुपए उपलब्ध कराएगी। जैसे भी संभव होगा, सेवा कार्य में पीछे नहीं हटेगी। मेयर ने कहा कि पशुपालन विभाग भी शहर में घूम रहे पशुओं को टैगिंग करेंगी।

पानी व चारे के पर्याप्त प्रबंध

नैन गो अभयारण्य संचालन समिति प्रधान राजरूप पानु ने बताया कि इस हमारे पास 2000 से ज्यादा गो वंश हैं। इनके लिए पीने के पानी व चारे के पर्याप्त प्रबंध हैं। ताले पानी के लिए 1450 फुट गहरा ट्यूबवेल है। वहीं 200 फुट लंबी कई खोर हैं।

चारदीवारी ऊंची होने पर ही मिलेगी आवारा कुतों से मुक्ति

अभयारण्य परिसर की चार दीवारी अभी ज्यादा ऊंची नहीं है। प्रधान राजरूप का कहना है कि इसकी ऊंचाई और हो जाए तो बाहर घूमने वाले आवारा कुत्तों के आतंक से मुक्ति मिल पाएगी। दानी सज्जनों से आग्रह है कि चारदीवारी के निर्माण में सहयोग करें। इस अवसर पर उप प्रधान जगदीश, देवी सिंह, सरपंच विक्रम, महासिंह भाऊपुर, लालचंद भाऊपुर व जुल्फी मौजूद रहे।

नगर निगम में नहीं पॉलिसी, फिर भी हर तरह से करेंगे सहयोग : मेयर

नैन गो अभयारण्य या गोशालाओं में बजट देने की नगर निगम की कोई पॉलिसी नहीं है। फिर भी शहर की सबसे बड़ी समस्या बेसहारा गोवंश है। इस समस्या का समाधान के लिए ही नैन गो अभयारण्य बनाया गया है। यहां पर चारा उपलब्ध कराना हम भी के लिए शौभाग्य की बात है। इसमें सभी शहरवासी सहयोग करें। मैं खुद भी तरह का सहयोग करूंगी।
- अवनीत कौर, मेयर, नगर निगम, पानीपत।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें