पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गड़बड़झाला:विकास कार्यों में हुए भ्रष्टाचार की विजिलेंस जांच की मांग

सफीदों23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आईएएस डॉ. आनंद कुमार को ज्ञापन सौंपते हुए लोग। - Dainik Bhaskar
आईएएस डॉ. आनंद कुमार को ज्ञापन सौंपते हुए लोग।
  • खानसर चौक पर स्वागत द्वार बनाया था जो उद्‌घाटन से पहले गिर गया

नगरपालिका सफीदों द्वारा पिछले 5 वर्षों में करवाए गए विकास कार्यों में व्याप्त भ्रष्टाचार की विजिलेंस से जांच की मांग को लेकर भाजपा नेता रामदास प्रजापत, पूर्व पार्षद प्रवीण बंसल व आईटीआई कार्यकर्ता प्रदीप गर्ग ने एसडीएम एवं पालिका प्रशासक आईएएस डॉ. आनंद कुमार को एक ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में लोगों का कहना था कि नगर पालिका सफीदों के विकास कार्यों में व्याप्त भ्रष्टाचार आज पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय बना हुआ है। कोई भी विकास कार्य बिना कमीशनखोरी के नहीं हुआ। हरियाणा सरकार ने नगरपालिका को विकास कार्यों के लिए लगभग 35 करोड़ रुपए दिए, मगर उच्चाधिकारियों ने पालिका द्वारा कराए गए विकास कार्यों का फीडबैक नहीं लिया और सरकार की ओर से भी कमीशनखोर अधिकारियों के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया गया।

उन्होंने कहा कि सफीदों का खानसर चौक पर स्वागत द्वार बनाया गया था जो उद्घाटन होने से पहले भरभराकर गिर गया। इस मामले में आज तक न तो ठेकेदार और न किसी अधिकारी के खिलाफ कोई कार्रवाई हुई। राजकीय कन्या काॅलेज का रास्ता बनाया गया था, वह पूरी तरह से खराब हो चुका है।

पालिका द्वारा हाट रोड से लगभग 2500 मीटर लंबाई का गंदे पानी की निकासी का नाला बनवाकर राजकीय माध्यमिक विद्यालय आदर्श काॅलोनी की खाली पड़ी जमीन पर डाल दिया गया। यहां से गंदे पानी की निकासी का कोई भी प्रबंध नहीं है।

उन्होंने एसडीएम से मांग की कि नगरपालिका सफीदों में विकास के लिए भेजे गए 35 करोड़ रुपए द्वारा कराए गए विकास कार्यों की विजिलेंस जांच कराई जाए। ज्ञापन देने आए लाेगाें ने प्रशासन को चेताया कि अगर पालिका भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों व ठेकेदारों के खिलाफ एक्शन नहीं लिया गया तो वे 20 जुलाई को महाराजा अग्रसेन चौक पर धरना व अनशन पर बैठेंगे।

खबरें और भी हैं...