पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस की छापेमारी:कोरोना मरीज से ज्यादा बिल लेने पर सफीदों में निजी अस्पताल पर छापा, पैसे किए वापस

सफीदों23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सफीदों. महिला के पति को 10 हजार रुपए की राशि लौटाते हुए अस्पताल का संचालक। - Dainik Bhaskar
सफीदों. महिला के पति को 10 हजार रुपए की राशि लौटाते हुए अस्पताल का संचालक।
  • कोविड अस्पताल नहीं होने के बावजूद कोरोना मरीजों का कर रहे थे इलाज

रविवार को कस्बे के पानीपत रोड पर स्थित एक निजी अस्पताल में कोरोना नोडल अधिकारी विजेंद्र हुड्डा के नेतृत्व में 3 सदस्यीय टीम ने छापेमारी की। अस्पताल में छापामार कार्रवाई एक कोरोना संक्रमित मरीज के परिजनों की शिकायत के आधार पर की गई। निजी अस्पताल प्रशासन पर आरोप था कि उसने मरीज से नाजायज पैसे वसूले और कोविड अस्पताल न होने के बावजूद कोरोना के मरीज दाखिल किए।

19 मई को सफीदों शहर निवासी महिला बबीता को छाती में संक्रमण के चलते इस निजी अस्पताल में दाखिल करवाया गया था। अस्पताल के डॉक्टर ने बबीता का सिटी स्कैन असंध (करनाल) में करवाया जिसमें काेराेना पाॅजिटिव मिली और उससे 6 हजार रुपए वसूल कर लिए। बबीता को अस्पताल में 3 दिन दाखिल रखा गया और 21 मई को उसे रोहतक रेफर कर दिया गया।

इलाज के दौरान उससे डॉक्टरों ने सिटी स्कैन के 6 हजार रुपए और 20 हजार रुपए अन्य, कुल 26 हजार रुपए जमा करवा लिए थे, लेकिन छुट्टी देते वक्त डॉक्टरों ने उससे 33 हजार रुपए की अतिरिक्त डिमांड की। इसके बाद महिला के पति सुमेश ने इस सारे मामले की शिकायत की डीसी जींद को की।

शिकायत पर संज्ञान लेते हुए डीसी डॉ. आदित्य दहिया ने तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया। इस कमेटी में आईएमए के अध्यक्ष डॉ. अजय गोयल, डिप्टी सीएमओ डॉ. रघुवीर पुनिया व जिला कोरोना अधिकारी बिजेंद्र हुड्डा को शामिल किया गया। गठित टीम रविवार को नगर के पानीपत रोड पर पहुंचकर इस निजी अस्पताल में रेड की। रेड के दौरान सिटी थाना प्रभारी रामकुमार पुलिस बल के साथ वहां मौजूद रहे।

टीम ने अस्पताल में मौजूद डॉक्टरों व स्टाफ से जानकारी हासिल की और कागजातों को खंगाला। इस पर अस्पताल प्रशासन ने लिए गए 26 हजार रुपए में से मरीज बबीता के पति सुरेश को 10 हजार रुपए मौके पर ही लौटा दिए। वहीं टीम ने अस्पताल प्रशासन को अपने कागजातों सहित जींद तलब किया।

खबरें और भी हैं...