पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समालखा:अधूरे सर्वे से नपा को खुद का नुकसान और लोगों को झेलनी पड़ रही परेशानियां

समालखा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

समालखा नगर पालिका के प्रॉपर्टी सर्वे का काम अधूरा रहने से लोगों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। नपा को टैक्स का चूना लग रहा है। प्रॉपर्टी आईडी नहीं बनने से प्लाॅटों की रजिस्ट्री प्रभावित हो रही है। जिसके चलते एनओसी के लिए शहर वासियों को चक्कर काटने पड़ रहे है। वही बैंक ऋण सहित सरकारी योजनाओं के लाभ से भी लोग वंचित हो रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि हर पांच साल पर नगरपालिका सर्वे कराकर नए गृहकर दाताओं को जोड़ती है। उनकी प्रॉपर्टी आईडी बनाती है। हाऊस टैक्स, प्लाॅटों की खरीद-बिक्री, आवासीय, जन्म-मृत्यु आदि प्रमाण पत्र सहित सरकारी योजनाओं का लाभ मिलने में लोगों को आसानी होती है। नपा ने एक निजी कंपनी ने 2018 में प्रॉपर्टी सर्वे का काम शुरू किया था। छह माह में उसे सर्वे पूरा करना था।

दो-तीन बार काम की समय सीमा भी बढ़ाई गई, लेकिन वह पूरा नहीं हुआ। करीब डेढ़ साल से सर्वे और जियो टेगिंग का काम बंद है। कंपनी ने जो सर्वे किया उनमें भी आधे से अधिक में गलती है। मालिकों के नाम और प्लाॅट मैच नहीं कर रहे हैं। सर्वे को लेकर नपा सचिव आशीष स्वामी ने बताया मेरे आने से पहले ऐसी स्थिति रही होगी। मगर अब जो भी व्यक्ति अपनी शिकायत लेकर आता है उसका तुरंत प्रभाव से समाधान किया जा रहा है।

2012 के बाद नहीं हुआ है सर्वे

नपा की आय का रजिस्ट्री की स्टांप ड्यूटी सहित हाऊस टैक्स नपा का मुख्य साधन है। फिर भी नपा सर्वे की अनदेखी कर रही है। वर्ष 2012 के बाद पालिका में सर्वे नहीं हुआ है। चार सालों तक हाऊस टैक्स बिल नहीं बंटने के बाद मजबूरी में पिछले साल पुराने बिल से नपा ने टैक्स की वसूली की। अभी भी नपा के लोगों पर लाखों रुपए बकाए हैं। 250 लोगों को नोटिस भी दिया है। मगर अधिकारियों को कोई चिंता नहीं है।

एनओसी न मिलने से लोगों को हुआ नुकसान

नपा द्वारा लोगों को एनओसी न मिलने के कारण अच्छा खासा नुकसान झेलना पड़ा सकता है। हनुमान कॉलोनी के कपिल और शिव कॉलोनी के नरेंद्र कहते हैं कि उनके बयाना का समय समाप्त होने वाला है। प्रॉपर्टी नंबर नहीं मिलने से नपा एनओसी नहीं दे रही है। रजिस्ट्री रूकी हुई है। उन्हें इससे लाखों का नुकसान होगा। पार्षद राजेश ठाकुर ने बताया कि इससे नपा को जहां राजस्व का नुकसान हो रहा है। वहीं जनता की परेशानी बढ़ गई है।

खबरें और भी हैं...