भक्ति-भावना:भक्तों के कल्याण और दुष्टों के संहार के लिए श्रीहरि अवतार लेते हैं- अरुण महाराज

समालखा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्री चुनकट महर्षि लकीसर बाबा मंदिर में श्रीराम कथा का तीसरा दिन, श्रीराम से किया कथा का शुभारंभ

श्री चुनकट महर्षि श्री लकीसर बाबा मंदिर चुलकाना धाम में रविवार को श्रीराम कथा के तृतीय दिन भगवान श्रीराम जन्म कथा का शुभारंभ किया गया। कथावाचक अरुण महाराज ने बताया कि माताओं को कौशल्या बनने का प्रयास करना चाहिए, तभी उनके घर में भगवान श्रीराम जैसी महान तेजस्वी संतान पैदा होती होगी। भक्तों के कल्याण और दुष्टों का विनाश करने के लिए श्रीहरि अवतार लेते हैं। आज के समय में हम पश्चिमी सभ्यता की ओर जा रहे हैं। जिससे हमारे समाज का पतन हो रहा है। हमें अपनी संस्कृति को नहीं भूलना चाहिए और संस्कृति को जिंदा रखने के लिए अपने बच्चों को संस्कृति के बारे में ज्ञान जरूर देना चाहिए।

कथावाचक महाराज ने बताया कि जब-जब हमारे धर्म की हानि हुई है, धर्म प्रेमियों और साधु संतों के साथ अन्याय हुआ है। तब-तब भगवान अवतरित हुए हैं। सतयुग में राजा चकवा बैन जैसे बलशाली राजा ने महान तपस्वी चुनकट महर्षि लकीसर बाबा संत का अपमान करने की मन में ठानी थी। श्री चुनकट महर्षि को युद्ध में ललकारा, चुलकाना की पावन धरती इस बात की गवाह बनी। इसी भूमि पर तपस्या करके चुनकट महर्षि ने युद्ध लड़ा और चकवा बैन का घमंड चकनाचूर कर दिया। इसी प्रकार भगवान श्रीहरि विष्णु भी दुष्टों का संहार करने के लिए राम अवतार लेकर आए और दुष्टों का संहार किया। महाराज ने कहा कि चुलकाना की पावन धरती पर भगवान का नाम लेने से भक्तों का कल्याण हो जाता है। इस अवसर पर पिंकी शर्मा, राकेश शर्मा, बिट्टू शर्मा, कृष्णपाल छोक्कर, सोनू शर्मा, मदन शर्मा, पुजारी अमित सहित अन्य ग्रामीणा माैजूद रहे।

खबरें और भी हैं...