जागरूकता अभियान:स्वास्थ्य विभाग ने घर-घर जाकर की जांच, रक्त के नमूने लिए

उचाना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उचाना. बुखार की रक्त पट्टिकाएं बनाते हुए स्वास्थ्य विभाग टीम। - Dainik Bhaskar
उचाना. बुखार की रक्त पट्टिकाएं बनाते हुए स्वास्थ्य विभाग टीम।
  • डेंगू, मलेरिया से बचाव को लेकर किया जागरूक

नागरिक अस्पताल के एमओ डॉ. सुशील गर्ग के निर्देशानुसार बनाई गई टीम ने घर-घर जाकर बुखार के रोगियों की रक्त पट्टिकाएं बनाई। टीम ने कूलरों, गमलों, पानी की टंकी, पानी की हाैदियों, फ्रिज की वेस्ट ट्रे आदि के पानी को भी खाली करवाया। लाेगों को प्रत्येक संडे ड्राई डे मनाने के बारे में जागरूक किया गया।

स्वास्थ्य निरीक्षक राजेंद्र सिंह मलेरिया, डेंगू, जापानी बुखार के लक्षण, उपचार एवं रोकथाम बारे विस्तार से बताया। डेंगू बुखार एडीज मच्छर के काटने से होता है। यह मच्छर साफ पानी में पैदा होता है एवं दिन के समय काटता है। मलेरिया बुखार एनाफिलीज मादा मच्छर के काटने से होता है। यह मच्छर रात के समय काटता है। यह मच्छर गंदे पानी में पैदा होता है। बुखार होने पर अपने रक्त की जांच करवाएं।

डॉक्टर की सलाह से ही दवा लें। रात को मच्छरदानी का प्रयोग करें, पूरी बाजू के कपड़े पहनें, खिड़की दरवाजों पर जाली लगाएं, नालियों में काला तेल डालें। इस मौके पर जगबीर सिंह एचआई, सत्यवान वर्मा, महेश, गौरव, मयंक, भारत मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...