मनोज भाटी के घर पहुंचे हरियाणा CM:परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की घोषणा; शहीद के नाम पर होगा स्कूल का नामकरण

फरीदाबाद3 महीने पहले
शहीद मनोज भाटी को श्रद्धाजंलि देते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल।

जम्मू कश्मीर में राजौरी सेक्टर के परगल आर्मी कैंप पर हुए आतंकी हमले में शहीद हुए राइफल मैन मनोज कुमार भाटी के घर फरीदाबाद के गांव शाहजहांपुर में बुधवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल पहुंचे। मुख्यमंत्री ने परिजनों को सांत्वना देने के साथ ही गांव के स्कूल का नाम मनोज भाटी के नाम पर रखने तथा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का वादा किया।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हमारा जवान देश के लिए शहीद हो गया। शहीद मनोज भाटी की शहादत पर हमें गर्व है। परिवार को दुख की इस घड़ी में सांत्वना देने आया हूं। परिवार की हर संभव मदद की जाएगी। सरकार की स्कीम के हिसाब से उन्हें हर लाभ दिया जाएगा। गांव के स्कूल का नामकरण भी मनोज के नाम पर किया जाएगा, जिससे उनकी शहादत हमेशा के लिए याद रहेगी।

शहीद के परिवार को सांत्वना देते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल।
शहीद के परिवार को सांत्वना देते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल।

बता दें कि आतंकियों ने 11 अगस्त की सुबह करीब सवा 3 बजे के आसपास आर्मी कैंप पर अचानक फायरिंग करते हुए घुसने का प्रयास किया था। संतरी ड्यूटी कर रहे शाहजहांपुर निवासी राजपूताना राइफल्स से सैनिक राइफल मैन मनोज भाटी ने अपने साथियों के साथ मिलकर आतंकियों पर जवाबी कार्रवाई की। दोनों तरफ से हुई गोलीबारी में मनोज कुमार शहीद हो गए।

शनिवार को उनके पैतृक गांव में उनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया था। मनोज कुमार वर्ष 2017 में भारतीय सेना में भर्ती हुए थे। इसके बाद दिल्ली में उनकी ट्रेनिंग हुई। वहां से उनकी पोस्टिंग राजस्थान में रही। इसके बाद तैनाती जम्मू कश्मीर में की गई थी।