रेवाड़ी में आसमान से बरसी आग:लगातार दूसरे दिन अधिकतम तापमान 46°c पर ; लू के थपेड़ों से हाल बेहाल

रेवाड़ी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रेवाड़ी में शनिवार को भीषण गर्मी के बीच नाईवाली चौक पर ड्यूटी के दौरान लोगों की प्यास बुझाते ट्रैफिक पुलिसकर्मी। - Dainik Bhaskar
रेवाड़ी में शनिवार को भीषण गर्मी के बीच नाईवाली चौक पर ड्यूटी के दौरान लोगों की प्यास बुझाते ट्रैफिक पुलिसकर्मी।

हरियाणा के रेवाड़ी में लगातार दूसरे दिन झुलसा देने वाली गर्मी का कहर नजर आया। भीषण गर्मी के चलते सड़कों पर चारों तरफ सन्नाटा पसरा रहा। क्षेत्र में शनिवार को अधिकतम तापमान 46 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। गर्मी से बचाव के लिए शनिवार को जगह-जगह शहर में छबील लगाकर लोगों को मीठा पानी पिलाया गया।

दरअसल,10 दिनों से रेवाड़ी जिले में लोग भीषण गर्मी का सामना कर रहे है। गर्मी ने पिछले कई सालों का रिकार्ड तोड़ दिया है। शुक्रवार को तो अधिकतम तापमान 46.5 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। हालांकि आज आधा डिग्री की गिरावट जरूर दर्ज की गई, लेकिन लोगों को गर्मी से कोई राहत नहीं मिली।

मौसम विभाग के अनुसार, शनिवार को रेवाड़ी में न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 46.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। गर्मी का आलम यह है कि दिन ही नहीं, बल्कि रात में भी लोगों का हाल बेहाल हो चुका है। एक तरफ गर्मी और दूसरी तरह बिजली के कटों से लोगों के पसीने छूट रहे है।

मौसम विशेषज्ञों की माने तो मई की शुरूआत में इस तरह की गर्मी कई साल बाद नजर आई है। अभी नौतपा शुरू नहीं हुआ है। उससे पहले ही अधिकतम तापमान 46 डिग्री के पार जा चुका है। अमूमन इस तरह की गर्मी पिछले कुछ सालों में जून में भी नजर नहीं आई। हालांकि इस बार मानसून के समय पर आने की पूरी संभावना है।

गर्मी से बचाने के लिए बच्चे को कपड़े से लपेट कर ले जाता बुजुर्ग।
गर्मी से बचाने के लिए बच्चे को कपड़े से लपेट कर ले जाता बुजुर्ग।

लू के थपेड़ों से घर से बाहर निकलना मुश्किल
पिछले 3 दिनों की बात करें तो दोपहर 12 बजे से ही लू का कहर दिखाई दे रहा है। शनिवार को भी 12 बजे से ही तेज गर्म हवाएं शुरू हो गई। दोपहर तक आलम यह रहा है कि शहर की जो सड़कें या तो ट्रैफिक की वजह से या फिर लोगों की भीड़ की वजह से खचाखच भरी नजर आती थी, वहां कर्फ्यू जैसा आलम दिखाई दिया।

फर्ज के साथ प्यास बुझा रहे ट्रैफिक पुलिस के जवान

आग उगलते सूर्य देवता से निकलती तपिश के बाद जन-जीवन अस्त व्यस्त हो चुका है। ऐसे में लोगों का घरों से निकलना दुश्वार हो चुका है। जरूरी कामों के लिए जिन लोगों को घरों से बाहर निकलना पड़ रहा है। वह हर संभव प्रयास गर्मी से बचने का कर रहे हैं। सेवा सुरक्षा और सहयोग का नारा देने वाली हरियाणा पुलिस के जवान तपती दोपहरी में अपना फर्ज निभाते हुए ना केवल ड्यूटी पर तैनात हैं, बल्कि आने जाने वालों की प्यास भी बुझाने का काम कर रहे हैं।

शहर में राहगीरों को पानी पिलाने वाली महिला पुलिसकर्मी का कहना है कि हम अपने फर्ज के साथ गर्मी के प्रकोप से लोगों को बचाने के लिए पानी पिलाने का एक छोटा सा प्रयास कर रहे हैं। महिला सिपाही ने कहा कि लोगों को इस प्रचंड गर्मी से अपना और अपनों का ख्याल रखने के भरसक प्रयास करने चाहिए और साथ ही पक्षियों के लिए भी पानी की व्यवस्था करते हुए पेड़ों पर सकोरे रखने चाहिए ताकि इस भीषण गर्मी से जन-जीवन प्रभावित ना हो सके।