सफाई कर्मियों की 4 दिन बाद हड़ताल खत्म:रेवाड़ी में लगे कूड़े के ढेर हटने शुरू हुए; सरकार के आश्वासन के बाद काम पर लौटे

रेवाड़ी2 महीने पहले

हरियाणा में रेवाड़ी में चल रही सफाई कर्मचारियों की हड़ताल शनिवार को खत्म हो गई। इसके बाद कर्मचारियों ने शहर के अंदर लगे कूड़े के ढेर को उठाना शुरू कर दिया है। हालांकि अभी डोर-टू-डोर कूड़ा उठना शुरू नहीं हुआ है।

दरअसल, दीपावली के त्योहार से पहले नगर परिषद के तमाम कर्मचारियों ने 4 दिन पहले हड़ताल कर दी थी। कर्मचारी नगर परिषद के गेट पर धरने पर बैठे हुए थे। कर्मचारियों की मांग थी कि कच्चे कर्मचारियों को पक्का किया जाए, कौशल रोजगार योजना भंग, ठेका प्रथा बंद और 4 हजार रुपए जोखिम भत्ता लागू करने सहित अन्य मांगे थी।

शनिवार को कर्मचारियों और सरकार के बीच सहमति बन गई। कर्मचारियों को करीब एक करोड़ रुपए की एरियर की राशि का भुगतान करने का आश्वासन मिला। जिसके बाद कर्मचारी दीपावली से पहले काम पर लौट आए हैं। सुबह से ही जेसीबी और ट्रैक्टर की मदद से शहर में लगे कूड़े के ढेर को उठाया जा रहा है। हड़ताल के कारण जगह-जगह फैले कूड़े की वजह से आम लोगों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।

हड़ताल खत्म होने के बाद कर्मचारी कूड़ा उठाने में लगे है।
हड़ताल खत्म होने के बाद कर्मचारी कूड़ा उठाने में लगे है।

एक सप्ताह से डोर-टू-डोर नहीं उठ रहा कूड़ा
अप्रूवल विवाद के चलते रेवाड़ी शहर में पिछले 7 दिन से डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन बंद है। शहर के डस्टबिन कूड़े की वजह से ओवरफ्लो हो चुके हैं। लोग घरों का कूड़ा निकालकर इन डस्टबिन और डंपिंग यार्ड में डाल रहे हैं। दीपावली की सफाई के चलते इन दिनों कूड़ा अधिक निकल रहा है, ये भी चिंता का विषय है। क्योंकि ठेकेदार काम बंद कर चुका है। इससे वार्डों में गाड़ियां जा नहीं रही।

2 माह से ठेकेदार को नहीं मिली अप्रूवल
मौजूदा फर्म को हर माह अप्रूवल देकर डोर टू डोर का काम कराया जा रहा था। 2 माह से ठेकेदार की अप्रूवल रोक दी गई। इससे पेमेंट भी नहीं हो पा रही। ठेकेदार ने काम बंद कर दिया। अब कर्मचारियों के सामने वेतन का संकट खड़ा हो गया है। ठेकेदार ने फिलहाल नगर परिषद द्वारा अप्रूवल नहीं मिलने से काम करने और कर्मचारियों के पेमेंट से हाथ खड़े किए हुए हैं।