महेन्द्रगढ़ में 2 घूसखोर SI गिरफ्तार:विजिलेंस की कार्रवाई; एक 2 लाख तो दूसरा 15 हजार लेते रंगे हाथों पकड़ा

महेन्द्रगढ़3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा के जिला महेन्द्रगढ़ में विजिलेंस की टीम ने कार्रवाई करते हुए एक ही दिन में 2 रिश्वतखोर सब इंस्पेक्टर (SI) गिरफ्तार किए हैं। दोनों को रंगे हाथों रिश्वत की रकम के साथ पकड़ा गया है। कार्रवाई ड्यूटी मजिस्ट्रेट की निगरानी में की गई। दोनों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

मिली जानकारी के अनुसार, नारनौल विजिलेंस के इंचार्ज इंस्पेक्टर नवल किशोर को जानकारी मिली थी कि महेन्द्रगढ़ सदर थाना में तैनात सब इंस्पेक्टर नरेश कुमार किसी मुकदमे के सिलसिले में 3 लाख रुपए की रिश्वत मांग रहा है। इसकी शिकायत अधिवक्ता बलबीर सिंह ने विजिलेंस को दी। साथ ही पता चला कि डेढ़ लाख रुपए आरोपी पहले ही ले चुका है और 2 लाख रुपए लेने के लिए एडवोकेट बलबीर सिंह के चैंबर में पहुंचने वाला है।

सूचना के आधार पर एक्शन में आते हुए विजिलेंस ने बतौर ड्यूटी मजिस्ट्रेट एसडीएम मनोज कुमार के साथ एसआई नरेश कुमार की गिरफ्तारी को लेकर प्लान तैयार किया। एडवोकेट बलबीर सिंह के चैंबर में जैसे ही नरेश कुमार रिश्वत की रकम 2 लाख रुपए लेने पहुंचा तो विजिलेंस ने उसे धर दबोचा। उससे रिश्वत की रकम भी बरामद की गई। आरोपी के खिलाफ करप्शन का केस दर्ज किया गया है।

आरोपी सब इंस्पेक्टर नरेन्द्र कुमार।
आरोपी सब इंस्पेक्टर नरेन्द्र कुमार।

कनीना थाना का सब इंस्पेक्टर भी पकड़ा

दूसरी तरफ महेन्द्रगढ़ जिले के कस्बा कनीना थाना में गुरुग्राम विजिलेंस की टीम ने रिश्वत लेते हुए सब इंस्पेक्टर नरेन्द्र कुमार को रंगे हाथों गिरफ्तार किया। आरोपी सब इंस्पेक्टर ने मुकदमा नंबर-62 साल 2022 में आरोपी को केस से निकालने की ऐवल में 30 हजार रुपए की डिमांड की थी, जिसकी सूचना शिकायतकर्ता ने गुरुग्राम विजिलेंस को दी। विजिलेंस ने उसे भी 15 हजार रुपए की पहली किश्त लेते हुए गिरफ्तार किया।

पुलिस महकमे में हड़कंप

एक दिन में विजिलेंस की टीम द्वारा महेन्द्रगढ़ जिले में 2 सब इंस्पेक्टरों को रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार करने के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। कार्रवाई की गूंज पूरे दिन सुनाई दी। दोनों सब इंस्पेक्टरों को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...