पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डिपो होल्डर की धांधली:गरीबों को राशन न देकर झूठे अंगूठे लगवा कर सामान को हजम कर जाता

आकोदा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आकोदा के खुड़ाना में अधिकारी को अपने बयान लिखवाते हुए कुछ ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
आकोदा के खुड़ाना में अधिकारी को अपने बयान लिखवाते हुए कुछ ग्रामीण।
  • ग्रामीणों ने लिखित में बयान दे डिपो होल्डर के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की उठाई मांग
  • खुड़ाना राशन डिपो होल्डर की जांच करने के लिए पहुंचे खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अधिकारी

गांव खुड़ाना में बीपीएल राशन कार्ड धारकों ने डिपो होल्डर पर धांधली कर राशन का गबन करने का आरोप लगाया है। धारकों का कहना है कि गांव में डिपो होल्डर गरीबों को राशन न देकर झूठे अंगूठे लगवा कर सामान को हजम कर जाता है। इस शिकायत पर संज्ञान लेते हुए रविवार को खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के सब इंस्पेक्टर जरनैल सिंह यादव गांव में पहुंचे। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों से लिखित में बयान लेकर डिपो होल्डर के खिलाफ उचित कार्रवाई किए जाने का आश्वासन दिया।

उन्होंने बताया कि ग्रामीणों के द्वारा डिपो होल्डर के खिलाफ लगातार शिकायत की जा रही थी। जिसके आधार पर जांच की जा रही है। ग्रामीण एवं पूर्व पंच सुरेश कुमार उर्फ टूनिया ने बताया कि वे लोग डिपो होल्डर की शिकायत सीएम विंडो में भी लगा चुके हैं लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। उसके बाद कुछ दिन पहले ग्रामीण जगदीश, कमल, धनसिंह, फतेह सिंह, रणजीत, उमराव आदि ने विभाग के उच्च अधिकारियों को शिकायत दी थी।

ग्रामीणों द्वारा दी गई शिकायत के आधार पर रविवार को खाद्य एवं आपूर्ति विभाग से सब इंस्पेक्टर जरनैल सिंह गांव खुड़ाना में पहुंचे और लोगों के रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों से उनके बयानों को लिखित में मांगा। जिसके बाद कुछ ग्रामीणों ने तो अपने बयान स्वयं लिखे व कुछ के बयान सब इंस्पेक्टर जरनैल सिंह ने लिखे। लगभग 65 कार्ड होल्डरों ने लिखित में बयान दिए। इस दौरान ग्रामीणों ने डिपो होल्डर पर आरोप लगाते हुए कहा कि डिपो होल्डर पूरे सामान पर अंगूठा लगवाकर उन्हें कम सामान ही वितरित कर रहा है।

ग्रामीणों ने बताया कि डिपो होल्डर के द्वारा मशीन पर अंगूठा लगवाने के बाद निकलने वाली रसीद भी उन लोगों को नहीं दी जा रही है। जिससे ये पता लग सके कि उनके अंगूठे किस-किस सामान को लेने के लिए लगाए गए है।

धारकों को अप्रैल मेें चीनी तो मई में गेहूं नहींं मिला

ग्रामीणों ने बताया कि डिपो होल्डर द्वारा अप्रैल माह की चीनी व मई माह में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत प्रति यूनिट मिलने वाले 5 किलो गेहूं भी वितरित नहीं किए गए है। सब इंस्पेक्टर जरनैल सिंह ने बताया कि वे एक-दो दिनों ने रिपोर्ट बनाकर उच्च अधिकारियों के पास भेज देंगे। जिसके बाद इस मामले में रिपोर्ट के आधार पर उच्च अधिकारियों के द्वारा डिपो होल्डर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...