पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बहादुरगढ़ बना क्राइम गढ़:24 दिनों में 17 वारदात, कोई खुलासा नहीं, एसपी ने किया शहर का दौरा

बहादुरगढ़21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बहादुरगढ़ में एसपी राजेश दुग्गल पुलिस अधिकारियों से बात करते हुए। - Dainik Bhaskar
बहादुरगढ़ में एसपी राजेश दुग्गल पुलिस अधिकारियों से बात करते हुए।

शहर में लगातार हो रही वारदातों से लॉ एन आर्डर हाशिए पर है। बहादुरगढ़ अब क्राइम का गढ़ बन गया है। पिछले तीन सप्ताह में बेखौफ बदमाशों ने फायरिंग कर वारदातों को अंजाम दिया है। मंगलवार देर रात एसपी राजेश दुग्गल बहादुरगढ़ का दौरा किया और थानों की भी जांच की। अपराध के बढ़ रहे ग्राफ से जहां शहरवासियों में दहशत का माहौल है वहीं पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठ रहे हैं।

क्षेत्र में अपराधी बेलगाम हो गए हैं। हाल के दिनों में लूटपाट की घटनाएं तेजी से बढ़ी है। लोगों में इसको लेकर भय व्याप्त है। जिले के पुलिस व्यवस्था पर अब सवाल खड़ा होने लगा है। घटना को अंजाम देने के बाद पुलिस सिर्फ एफआईअार कर लेती है,लेकिन बदमाश कब पकड़े जाएंगे और अपराध पर कब अंकुश लगेगा ये पुलिस को भी नहीं पता।

कुछ दिन पहले ही सराय गांव के पास बाइक सवार बदमाशों ने एक ड्राइवर से गन पॉइंट पर उसकी जेब में रखे केवल 250 रुपए भी लूट लिए थे। पिछले तीन सप्ताह में 17 से ज्यादा वारदाते डकैती और लूटपाट की हुई है। वहीं इससे अलग चोरी की कई एफआईआर हर थाने में दर्ज है। क्राइम थमने का नाम नहीं ले रहा है। क्षेत्र में लगातार बढ़ रही आपराधिक घटनाओं से लोग दहशत में हैं। साथ ही लोगों में गुस्सा भी है।

अपराधियाें के हाैसले बुलंद: अपराधियों के बुलंद हौसले के आगे पुलिस पस्त नजर आ रही है। कई मामलों का खुलासा भी पुलिस नहीं कर पा रही है। यूं कहें कि अपराधियों में पुलिस का भय नहीं रहा। पुलिस के उच्च अधिकारी द्वारा भी स्थानीय पुलिस कर्मचारियों पर भी कोई कार्रवाई नहीं किए जाने से भी अपराध में वृद्धि हो रही है।

एसपी निरीक्षण पर निकले
शहर में लगातार हो रही वारदातों से हरकत में आई पुलिस मंगलवार पूरी रात सड़कों पर रही और फोकस औद्याेगिक क्षेत्र रहा। जहां रोजाना डकैती की वारदाते हो रही थी। पुलिस अलर्ट पर थी तभी शायद मंगलवार रात को कोई ऐसी वारदात समाने नहीं आई। वहीं एसपी राजेश दुग्गल भी रात को निरीक्षण पर निकल पड़े।

उन्होंने भी रात भर पुलिस के अधिकारियाें के साथ क्षेत्र का दौरा किया और पुलिस कर्मचारियों को सख्त हिदायत दी। मंगलवार की देर रात एसपी खुद शहर की सड़कों पर निकले एवं कई थानों में जाकर रात में पुलिस गश्त का जायजा लिया। एसपी का निरीक्षण रात भर जारी रहा।

फैक्ट्री बनी सेफ जोन
अब 5 दिनों में हथियार के साथ बदमाश 4 फैक्ट्रियों में घुस कर डकैती मार कर लाखों का सामान ले जा चुके है। रात के समय में फैक्ट्रियां अपराधियों के लिए सेफ जोन बन गई है। एक के बाद एक लूट की घटनाएं अपराधियों के बढ़े हौसले को बयां कर रहा है। अपराधियों पर अंकुश लगाना पुलिस प्रशासन के लिए चुनौती साबित हो रही है।

वहीं क्षेत्र में लगातार बढ़ रही घटनाओं से पुलिस प्रशासन पर अंगुलियां उठने लगी है। पुलिस गश्त की बात भी कागजाें में हो रही है। उद्योगपति नवीन मल्होत्रा, प्रवीण गर्ग, राजेश चोपड़ा, सुरेंद्र, प्रकाश ने बताया कि लगातार बढ़ रही वारदातों से उद्योगपतियों में रोष है। उद्योगपतियों में डर पैदा हो गया है। अब श्रमिकों में भी भय का माहौल है।

खबरें और भी हैं...