मधुमक्खी पालकों की बढ़ी मुश्किलें / मधुमक्खी पालक बोले- लॉकडाउन में घटा शहद का उत्पादन, अब 500 करोड़ के पैकेज से मिलेगी राहत

Bee spinach said - reduced honey production in lockdown, now relief from 500 crore package
X
Bee spinach said - reduced honey production in lockdown, now relief from 500 crore package

  • केंद्र सरकार की मधुमक्खी पालन के लिए 500 करोड़ का आर्थिक पैकेज देने की घोषणा से जागी उम्मीद

दैनिक भास्कर

May 17, 2020, 05:00 AM IST

बहादुरगढ़. तीसरे चरण के लॉकडाउन बैरन मधुमक्खी पालकों के समक्ष भी शहद उत्पादन को लेकर संकट बना हुआ है ऐसे में अब केंद्र सरकार द्वारा घोषित किए गए करोड़ों रुपए के वार्षिक पैकेज मैं से 500 करोड़ रुपए की राहत मधुमक्खी पालकों को दिए जाने के साथ ही क्षेत्र के मधुमक्खी पालकों में अपने शहद उत्पादन को लेकर एक नई उम्मीद जगी है। 
भारत सरकार ने आर्थिक पैकेज के तहत मधुमक्खी पालन पर विशेष ध्यान देते हुए 500 करोड़ रुपए के पैकेज की घोषणा की है। इस घोषणा पर मलिकपुर गांव निवासी मधुमक्खी पालक विनय फोगाट ने बताया कि मधुमक्खी पालन से देश में 95 हजार मीट्रिक टन शहद का सालाना उत्पादन होता है। जिसमें से करीब 40 हजार मीट्रिक टन शहद का एक्सपोर्ट किया जाता है ‌। मधुमक्खियां पॉलिनेशन से फसलों में पैदावार बढ़ाती है। अब लाॅकडाउन में मधुमक्खियों की संख्या भी घट रही है और शहद का उत्पादन भी घट रहा है। इस प्रतिकूल स्थिति में यह घोषणा बहुत ही लाभकारी होगी।
पैकेज का लाभ इस तरह ले सकेंगे मधुमक्खी पालक
एकीकृत मधुमक्खी पालन विकास केंद्रों के माध्यम से प्रदेशभर के मधुमक्खी पालक इसका लाभ ले सकते हैं। इसी प्रकार शहद की मार्केटिंग, वैल्यू एडिशन में और बी ब्रीडर को न्यूक्लस का स्टॉक व मधुमक्खियों की गुणवत्ता बढ़ाने मैं यह पैकेज मददगार साबित होगा। साथ ही शहद निष्कर्षण के बाद मिलने वाली प्रसंस्करण की सुविधाओं में बजट को खर्च किया जाएगा जिससे डेवलपमेंट और क्वालिटी पर काफी ध्यान दिया जाएगा।
शहद में पोलन काउंट घटाने से बढ़ी मिलावट
बताया गया कि से 10 साल पहले एफएसएस एआई ने 100 ग्राम शहद में 50 हजार पोलन काउंट के मानक तय कर रखे थे, जिनको घटाकर 5 साल पहले 25000 पोलन काउंट कर दिया था, लेकिन हाल ही में प्रति 100 ग्राम शहद में पोलन काउंट घटाकर 5 हजार कर दिया है। जिससे लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ हो रहा है और बाजार में नकली शहद बिक रहा है। इसलिए एमएमआर जिससे शहद उत्पादकों को शहद के उचित दाम मिल सकें।
नींबू और शहद के मिश्रण से मिलती है ताकत
माॅडर्न फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशन के निदेशक विनय फोगाट ने बताया कि हर रोज सुबह-शाम खाली पेट ठंडे पानी में 2-2 चम्मच शहद 1 निंबू के साथ मिलाकर पीने से हमारे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता काफी बढ़ जाती है। फौगाट ने बताया कि विटामिन सी मानव की रोग प्रतिरोधक क्षमता का सबसे अच्छा दोस्त है। इसी प्रकार नारियल के पानी में शहद मिलाकर पीने के अनेक चमत्कारी फायदे हैं। यह मिश्रण पीने से पेट की गैस, कब्ज दूर होती है व कोलस्ट्रॉल कम होता व किडनी को साफ करता है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना