पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धर्म:अष्टमी और नवमी एक साथ होने पर बना विशेष संयोग

बहादुरगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस बार नवमी अष्टमी तिथि के साथ 24 को मनाई जाएगी

नवमी के दिन मां दुर्गा के नौवें रूप सिद्धिदात्री की पूजा करने का विधान है, लेकिन इस बार अष्टमी व नवमी एक साथ होने से यह विशेष संयोग बन रहा है। यह देवी अपने सभी भक्तों की समस्त मनोकामनाओं को पूरा करने वाली हैं। पंडित प्रवीण शास्त्री ने बताया कि आश्विन शुक्ल नवमी इस बार अष्टमी तिथि के साथ 24 अक्तूबर को ही मनाई जाएगी। क्योंकि 23 अक्तूबर को सप्तमीवेध युक्त अष्टमी है।

इस बार की अष्टमी युक्त नवमी विशेष शुभकारी भी है। कहते हैं भगवान शिव ने भी अपनी समस्त सिद्धियां मां सिद्धिदात्री की कृपा से प्राप्त की थीं। इन्हीं की अनुकंपा से वह अर्द्धनारीश्वर कहलाए। मधु-कैटभ का वध करने के लिए देवी ने महामाया फैलाई, जिससे देवी के बहुत से रूप हो गए। दानवों को भ्रम हुआ कि यह कौन-सी देवी हैं, जो माया का प्रसार कर रही हैं, पूरा लोक जिनके मोहपाश में फंसा जा रहा है। दानवों के पूछने पर देवी कहती हैं कि यह मेरी ही शक्तियां हैं, इन्हें मुझमें ही समाहित होते हैं।

भक्तों ने मां कुष्मांडा की पूजा कर मांगी खुशहाली
नवरात्रि के चौथे दिन मंगलवार को मां कुष्मांडा की पूजा की गई। भक्तों ने सुबह घरों में आरती कर मां के जयकारे लगाए। साथ ही परिवार में खुशहाली के लिए आशीर्वाद लिया। अपनी मंद मुस्कान से ब्रह्मांड को उत्पन्न करने के कारण इन्हें कुष्मांडा देवी के नाम से पुकारा जाता है। इसलिए यही सृष्टि की आदि स्वरूपा और आदिशक्ति हैं। इनका निवास सूर्यलोक में है। इन्हीं के तेज और प्रकाश से दसों दिशाएं प्रकाशित हो रही हैं। ये अष्टभुजा देवी के नाम से भी विख्यात हैं। संस्कृत भाषा में कुष्मांडा कुम्हड़े को कहते हैं।

मां कुष्मांडा की उपासना से भक्तों के समस्त रोग-शोक विनष्ट हो जाते हैं। मां कुष्मांडा अत्यल्प सेवा और भक्ति से प्रसन्न होने वाली हैं। नवरात्रि के चौथे दिन कुष्मांडा देवी की उपासना की जाती है। इस दिन साधक का मन अनाहत चक्र में स्थित होता है। दैहिक, दैविक और भौतिक तीनों ताप से युक्त मां कुष्मांडा के उदर में सारा संसार वास करता है। जातक को इन तीनों तापों से मुक्ति के लिए मां की आराधना ही एक जरिया माना गया है। शहर के मंदिरों में पूजा के बाद शाम की आरती में लोगों ने मां के दर्शन किए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- यह समय विवेक और चतुराई से काम लेने का है। आपके पिछले कुछ समय से रुके हुए व अटके हुए काम पूरे होंगे। संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी समस्या का भी समाधान निकलेगा। अगर कोई वाहन खरीदने क...

और पढ़ें