पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खून की होली:10 माह पहले पुलिस को बताया था खतरा है, अब हत्यारों ने आठ गोलियां मार ली जान

बेरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घटनास्थल का निरीक्षण करते पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल। (इनसेट) गेस्ट टीचर अनिल का फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
घटनास्थल का निरीक्षण करते पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल। (इनसेट) गेस्ट टीचर अनिल का फाइल फोटो
  • दुजाना में होली पर बहा खून, गेस्ट टीचर का पुरानी रंजिश में बेरी चौक पर मर्डर
  • नजफगढ़ के एक सरकारी स्कूल में 5 साल से अनुबंध पर थे अनिल

गांव दुजाना में रविवार दोपहर बाइक सवार तीन नकाबपोश हथियारबंद बदमाशों ने 32 वर्षीय दिल्ली के गेस्ट टीचर अनिल की आठ गोलियां बरसाकर हत्या कर दी। वह दिल्ली स्थित नजफगढ़ के एक सरकारी स्कूल में 5 साल से अनुबंध पर गेस्ट टीचर थे। वारदात को अंजाम देने के बाद बाइक सवार बदमाश मौके से फरार हो गए। अनिल को पिछले 10 माह से खुद पर जानलेवा हमले की आशंका थी। इसी डर से वह अपने पैतृक गांव दुजाना नहीं आ रहे थे। अब होली की छुट्टी पर वह परिवार के साथ गांव दुजाना घर आए थे।

रविवार दोपहर करीब 11:30 बजे गांव दुजाना के पास बेरी चौक पर अनिल अपने दोस्त मंजीत के साथ बलजीत चिकन कार्नर शॉप पर बैठे थे। तभी बाइक पर आए तीन नकाबपोश बदमाशों ने पिस्तौल से अनिल पर फायर कर दिए। मनजीत भी सुरक्षित जगह छुप गया। इस बीच मनजीत और बलजीत को छोड़कर तीनों हमलावर अनिल के पीछे दौड़े। उन पर फायरिंग करते रहे। अनिल के 3 गोली सिर, एक जांघ, तीन सीने और एक कमर के नीचे मारी गई।

हालांकि, अनिल जान बचाने के लिए वहां से करीब 70 मीटर तक दौड़े, लेकिन हमलावरों ने पीछा कर थोड़ी दूरी पर अनिल पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी। इसमें अनिल को 8 गोलियां लगी और मौके पर ही दम तोड़ दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए। इसके बाद बलजीत ने ही पुलिस को घटना की जानकारी दी। वारदात के बाद ग्रामीण दहशत में आ गए। सूूचना मिलते ही दुजाना थाना प्रभारी मय फोर्स के मौके पर पहुंचे। इस बीच एसपी राजेश दुग्गल भी पहुंच गए।

उन्होंने पुलिस टीम बनाकर सभी हमलावरों को गिरफ्तार करने के आदेश दिए। एफएसएल की टीम ने मौके से सबूत जुटाए। पुलिस के अनुसार इस मामले में मुख्य आरोपी संजय का नाम सामने आ रहा है। पुलिस जांच में हत्या की घटना के पीछे जमीन विवाद की रंजिश सामने आ रही है। मृतक के पिता विजय की शिकायत पर गांव बिरधाना के संजय व 2 अन्य के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

हाथ से पार होकर गोली प्राइवेट पार्ट के ऊपर लगी: अनिल ने बचने के लिए हाथ मारे तो गोली हाथ में से पार होकर गुप्तांग के ऊपर लगी। एफएसएल टीम को भी जांच करते समय हैरानी हुई कि गुप्तांग में गोली लगी हुई थी, लेकिन बाद में पाया गया कि हाथ में से पार होकर गोली प्राइवेट पार्ट के ऊपर लगी। पिछले पांच साल से दिल्ली में गेस्ट टीचर की नौकरी कर रहा अनिल शादीशुदा था। परिवार में पत्नी के अलावा एक बेटा व एक बेटी है। पत्नी रोहतक की है।

पुलिस ने कहा था-कोई बड़ी बात नहीं है कुछ नहीं होगा, पर ये वारदात हो गई

पिता विजय सिंह सैनी ने बताया कि उनका बेटा अनिल दिल्ली में नौकरी करता था, जबकि दूसरा बेटा सुनील खेती बाड़ी करता है। अनिल अपने भाई की खेतीबाड़ी में मदद करता था। बेटा 10 माह पहले ट्रैक्टर लेकर गया था तो करीब 10 लोगों ने हमला बोल दिया था। अनिल ने जान का खतरा बताते हुए पुलिस से सुरक्षा के लिए गुहार लगाई थी। पिता ने बताया कि पिछले माह भी थाने में गए थे। उस दौरान ड्यूटी पर तैनात दरोगा ने कहा था कि विजय इतना बड़ा मामला नही हैं। अब बेटे की हत्या कर दी गई। इसका किसी से जवाब नहीं बन रहा है। अगर थाना पुलिस व कोई अधिकारी उनकी शिकायत को गंभीरता से ले लेते तो बेटे की हत्या नहीं होती।

खेत के रास्ते को लेकर विवाद था, परिजन बोले- आरोपी पकड़े जात तो बेटा जिंदा होता

अनिल के परिवार का नजदीक के गांव के युवक के साथ खेत के रास्ते को लेकर विवाद चल रहा है। इस संबंध में दुजाना थाने में केस दर्ज है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 307 के तहत 15 जून 2020 को केस दर्ज किया था, लेकिन 10 माह बीतने के बाद दुजाना पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया। अनिल के परिजन गिरफ्तारी के लिए पुलिस के हर बड़े अधिकारी से मिल चुके थे। इसके बावजूद अनिल व उनके परिजनों को कोई राहत नहीं मिल सकी।

अनिल की हत्या के बाद विलाप करते परिजनों ने पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाए हैं। परिजनों ने कहा कि अगर पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार कर लेती तो उनका बेटा जिंदा होता है। पुलिस अब आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

अनिल के परिवार वालों का खेत के रास्ते के लिए विवाद पड़ोसी से चल रहा था। जिसका 10 माह पहले झगड़ा हुआ था। झगड़े के मामले में आरोपियों को पहले गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन बाद में धारा 307 लगाई थी। अभी आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए वारंट निकाल दिया था, उसे जल्द गिरफ्तार करना था। - मनोज हुड्डा, दुजाना थाना प्रभारी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- दिन सामान्य ही व्यतीत होगा। कोई भी काम करने से पहले उसके बारे में गहराई से जानकारी अवश्य लें। मुश्किल समय में किसी प्रभावशाली व्यक्ति की सलाह तथा सहयोग भी मिलेगा। समाज सेवी संस्थाओं के प्रति ...

    और पढ़ें