प्रदर्शन:कानपुर बालिका संरक्षण गृह कांड की निंदा, उच्च स्तरीय जांच की मांग

धारूहेड़ा2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • आए दिन प्रदेश में सामूहिक दुष्कर्म की घटनाएं आम हो गई है, संरक्षण गृहों में बच्चियां सुरक्षित नहीं है

शहीद भगत सिंह यादगार कमेटी धारूहेड़ा की ओर से कानपुर बालिका संरक्षण गृह कांड की कड़ी निंदा की गई। कमेटी सदस्यों ने कोरोना महामारी के बढ़ते प्रभाव व सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए अपनी-अपनी जगह पर ही प्रदर्शन किया।

कमेटी अध्यक्ष कामरेड रमेशचंद्र एडवोकेट व सचिव राकेश सैनी ने कहा कि बड़े दुर्भाग्य की बात है कि उत्तर प्रदेश कि बीजेपी सरकार के शासन में महिलाएं व बच्चियां एकदम असुरक्षित है। आए दिन प्रदेश में सामूहिक दुष्कर्म की घटनाएं आम हो गई है। संरक्षण गृहों में बच्चियां सुरक्षित नहीं है। उन्होंने कहा कि इस कांड की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। नगरपालिका पार्षद मनीषा सैनी व शिक्षिका कविता निरवाल ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कमेटी के सदस्य गण राजेंद्र सैनी, धीरज सैनी, रवि कुमार, नीरज, संजीव कुमार, हरि नारायण प्रजापत, नवल सिंह प्रधान, रितेश चंद्र, रजनीश पवार, सुपाल सिंह पवार व दयाराम सिंधु ने मांग करते हुए कहा कि ऐसी घटनाओं की पुनरावृति पर रोक लगे और दोषियों को गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।

खबरें और भी हैं...