पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हवन-यज्ञ:आर्य समाज ने 19 गांव के लिए खेड़ी खुम्मार से शुरू की हवन-यज्ञ यात्रा

झज्जर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

आर्य समाज खेड़ी खातीवास व वेद प्रचारिणी समिति द्वारा रविवार को खेड़ी खुम्मार गांव से यज्ञ यात्रा आरंभ की गई। इसे युवा संन्यासी व आर्य समाज के कोरोना रिलीफ अभियान के संयोजक स्वामी आदित्य वेश द्वारा हरी झंडी दिखाकर यज्ञ यात्रा आरंभ की गई। उन्होंने यज्ञ की वैज्ञानिक महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यज्ञ में फार्मेल्डिहाइड गैस उत्पन्न होती है जो कि रोगाणु नाशक होती है। कई बीमारियों के रोगाणु यज्ञ की शुद्ध वायु से नष्ट हो जाते हैं। आर्य समाज द्वारा सारे देश में लगभग ढाई हजार स्थानों पर विशाल यज्ञ का आयोजन पर्यावरण के लिए किया जा रहा है।

वेद प्रचारिणी समिति के अध्यक्ष रमेशचन्द्र कौशिक ने मास्क वितरित किए और मास्क लगाना जरूरी और दो गज दूरी इस बीमारी से बचने के लिए रखना बहुत जरूरी बताया। कार्यक्रम के संयोजक जिले सिंह आर्य व यज्ञ ब्रह्मा योगेंद्र योगाचार्य हैं। यह यज्ञ यात्रा उन्नीस गांव में वायु शुद्ध करने व रोग भगाने के लिए की जा रही है। इस कार्यक्रम द्वारकादास, रामफल आर्य, राजेश आर्य, जितेंद्र परमार बारानी, यतेंद्र यादव, आचार्य बालेश्वर, भगवान सिंह, जय भगवान आर्य, सुकर्म पाल तथा गांव के प्रमुख वक्तव्यों द्वारा सहयोग किया जा रहा है।

आर्य समाज में हुआ मासिक हवन यज्ञ

झज्जर. आर्य समाज में पुरोहित प्रदीप शास्त्री ने मासिक वैदिक यज्ञ में उपस्थित आर्यजनाें के बीच कराया। प्रदीप शास्त्री ने कहा कि माता-पिता को भी चाहिए कि वे अपने बच्चों को ऐसे संस्कार दें कि वे बड़े होकर उनके संस्कारों का पालन करते हुए उनके बुढ़ापे का सहारा बन सकें। प्रदिप ने बताया कि भौतिकता से भरी जिंदगी में परिवार टूटने लगे हैं। जिनके कारण बच्चों में संस्कारों का अभाव होने लगा है। शास्त्री ने कहा कि नई पीढ़ियों को सत्कर्म की ओर प्रेरित करते हुए उन्हें अच्छे संस्कारयुक्त बनाना आज की आवश्यकता है।

खबरें और भी हैं...