पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिला प्रशासन का फैसला:खाद्य वस्तुओं की बिक्री के रेट निर्धारित, समय-समय पर विभाग करेगा छापेमारी

झज्जरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोनाकाल में कालाबाजारी को राेकने के लिए जिला प्रशासन का फैसला

कोरोना महामारी के दौर में बेलगाम होते जा रहे आवश्यक खाद्य वस्तुओं के दामों से जिले की जनता को कुछ राहत मिलेगी। जिला प्रशासन ने सतर्कता बरतते हुए खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को जिले भर में छापेमारी के निर्देश दिए। जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण चेयरमैन एवं उपायुक्त जितेंद्र कुमार के निर्देशानुसार खाद्य एवं पूर्ति विभाग की ओर से निर्धारित रेट अनुसार ही आवश्यक खाद्य वस्तुओं की बिक्री सुनिश्चित होगी। जारी आदेश अनुसार किसी भी रूप से उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

ये सभी वस्तुएं प्रति लीटर व किलोग्राम में

शिकायत के लिए 01251-252516 कंट्रोल रूम बनाया गया है। निर्धारित रेट अनुसार परमल चावल-30 से 35 रुपए प्रति किलोग्राम, गेहूं-पीबीडब्लू-343 22 रुपए प्रति किलोग्राम, गेहूं आटा-22 से 25 रुपए, गर्म दाल-सूखी-80 से 85 रुपए, मूंग दाल साबुत-95 से 105 रुपए, उड़द लाल 501-44 ब्रांड-100 से 115 रुपए, तूर-अरहर दाल-115 से 125 रुपए, मसूर साबुत खजाना दाल-85 से 90 रुपए, चीनी एम30-39 रुपए, ग्राउंड नट तेल गिनी-190 से 195 रुपए प्रति लीटर, सोया ऑयल गिनी-150 से 160 रुपए लीटर, सरसों तेल शहनाई-150 से 160 रुपए लीटर, सनफ्लावर ऑयल-फॉर्च्यून-160 से 170 रुपए, वनस्पती गगन-150 से 155 रुपए, पाल्म ऑयल गिनी-140 से 145 रुपए, खुली चाय-320 से 340 रुपए प्रति किलोग्राम, आलू-15 से 20 रुपए प्रति किग्रा, टमाटर देसी-10 से 15 रुपए प्रति किग्रा, प्याज-15 से 20 रुपए प्रति किग्रा, नमन टाटा-19 रुपए तथा मिल्क वीटा-50 रुपए प्रति लीटर निर्धारित किया गया है।

खबरें और भी हैं...