यादें:जनरल रावत ने लीक से हटकर 350 डॉक्टरों को दी थी आर्मी ट्रेनिंग

झज्जरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश के प्रथम रक्षा प्रमुख रहे जनरल बिपिन रावत का गहरा नाता झज्जर के डॉक्टर दंपती डॉ. प्रदीप भारद्वाज और उनकी पत्नी अनीता भारद्वाज के जरिए झज्जर से भी नाता रहा है। आर्मी सेना प्रमुख रहे और बाद में सीडीएस बने जनरल बिपिन रावत ने लीक से हटकर पहली बार झज्जर से जुड़े हुए 350 सिविलियन डॉक्टरों को आर्मी की ट्रेनिंग दी थी, ताकि वे हाई एटीट्यूड स्थानों पर जाकर अपने बचाव के साथ-साथ रोगी सेवा भी कर सकें।

देश के दुर्गम स्थानों पर भाई जीवन रोधक हाई एल्टीट्यूड मेडिकल कैंप लगाने वाले झज्जर के गांव खरहर निवासी डॉ. प्रदीप भारद्वाज ने जनरल बिपिन रावत की याद में शोक सभा की और कहा कि जनरल रावत का प्लान भारत-पाक युद्ध (1971) के गोल्डन जुबली (2021) पर आर्म्ड फोर्स बुक ऑफ रिकार्ड भी लांच करने का था। यही नहीं, जनरल रावत का सिक्स सिग्मा हेल्थकेयर के साथ बहुत गहरा रिश्ता था। सिक्स सिग्मा लीडरशिप समिट और एक्सीलेंस अवाॅर्ड-2019 में उन्होंने नाम, नमक, निशान, वफादारी और इज्जत का मूल मंत्र पूरी टीम को दिया था।

जनरल रावत के साथ की मुलाकातें ताजा की सिक्स सिग्मा हेल्थकेयर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डाॅ. प्रदीप भारद्वाज ने दिवंगत पूर्व सीडीएस जनरल बिपिन रावत के साथ मुलाकात को याद किया। उन्होंने बताया कि जांबाज जनरल के मार्गदर्शन में सिक्स सिग्मा हेल्थकेयर ने हाई एल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस में नए आयाम स्थापित किए। देश का मान बढ़ाया।

उन्होंने ही हाई एल्टीट्यूड मेडिकल सर्विस वाॅलंटियर्स को सैन्य प्रतिष्ठानों में ट्रेनिंग दिलवाकर पर्वतीय क्षेत्रों में साहस, समर्पण और परिश्रम की नई मिसाल पेश की। डाॅ. प्रदीप ने बताया कि सीडीएस रावत ने कहा था कि एशिया बुक ऑफ रिकार्ड, इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड व गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड सभी धन लेकर लोगों की उपलब्धियों को प्रकाशित करते हैं। ऐसे में आप लोग आर्म्ड फोर्स बुक ऑफ रिकार्ड पुस्तक बनाएं, जिसमें भारतीय सेना के शूरवीर सैनिकों के अद्म्य साहस और पराक्रम की गाथाओं को बारीकी से पिरोया गया हो। हम भारत-पाक युद्ध (1971) के गोल्डन जुबली समारोह में उसका लोकार्पण करेंगे।

महान हस्ती कभी नहीं मिटती, याद रहती है

डाॅ. अनिता भारद्वाज ने कहा कि शौर्य थी जिनकी पहचान, दुश्मन भी करते थे, उनका सम्मान, महान हस्ती कभी मिटती नहीं हमेशा लोगों के दिलों में राज करती है तीनों सेना के सर्वोच्च अधिकारी को सिक्स सिग्मा का सलाम…। डॉ. भारद्वाज ने बताया कि जनरल रावत अपनी सेवानिवृत्ति के बाद सिक्स सिग्मा के साथ मिलकर.उत्तराखंड के पौड़ी में हाई ऐल्टिटूड माउंटेन मेडिसिन इंस्टीट्यूट बनाना चाहते थे।

खबरें और भी हैं...