मुख्यमंत्री को ज्ञापन:अतिथि अध्यापकों ने विधायक को मांगों को लेकर खून से लिखा ज्ञापन सौंपा

झज्जरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अतिथि अध्यापकों की सेवाओं को नियमित किए जाने की मांग को लेकर गेस्ट टीचर ने विधायक के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर उनकी सेवाएं नियमित किए जाने की मांग की है। गेस्ट टीचर्स की ओर से प्रवीण जाखड़ और सुनील कुमार ने प्रतिनिधि के तौर पर विधायक गीता भुक्कल को खून से लिखा हुआ ज्ञापन सौंपा। गेस्ट प्रतिनिधि प्रवीण जाखड़ ने बताया कि यूनियन के निर्णय अनुसार सभी विधायकों के माध्यम से अतिथि अध्यापक अपने खून से ज्ञापन लिखकर मुख्यमंत्री को भेज रहे हैं, ताकि उनकी सुनवाई हो सके।

भाजपा ने सरकार में आने से पहले अतिथि अध्यापकों को पहली कलम से पक्का करने की बात कही थी मगर 7 साल बीतने के बाद भी इन्हें नियमित नहीं किया गया है। यहां तक की समान काम समान वेतन तक भी अतिथि अध्यापकों को नहीं दिया जा रहा। जिस कारण अतिथि अध्यापकों में गहरा रोष है।

उन्होंने कहा कि विधानसभा में भी इस तरह का कानून बना दिया गया कि गेस्ट टीचर्स को पक्का न किया जाए जबकि कोई भी सरकार कर्मचारियों के हित में निर्णय लेती है, मगर वर्तमान सरकार ने अतिथि अध्यापकों की लगातार अनदेखी की है। ज्ञापन सौंपे जाने के बाद गीता भुक्कल ने प्रतिनिधियों को आश्वस्त किया कि वे उनके विज्ञापन को सरकार तक पहुंचा देंगे।

खबरें और भी हैं...