पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुरक्षात्मक रूपरेखा:कोरोना से प्रभावित मरीजों के लिए जिला प्रशासन की सार्थक पहल

झज्जरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना महामारी से बचाव के मद्देनजर जिला प्रशासन पूरी सुरक्षात्मक रूपरेखा के साथ कार्य कर रहा है। कोरोना संक्रमण फैलाव को रोकने के साथ ही अब कोरोना को हरा स्वस्थ हुए लोग परोपकारी भावना के साथ प्लाज्मा डोनर बन अन्य कोरोना मरीजों के स्वास्थ्य सुधार में सहभागी बन सकते हैं।

जिला प्रशासन की ओर से प्लाज्मा डोनर करने वालों के रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू की है जिसके तहत वेबसाइड COVIDCAREJHAJJAR.IN अथवा JHAJJAR.NIC.IN से जुड़कर कोरोना संक्रमण से जूझ रहे लोगों की सहायता कर सकते हैं।

जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण चेयरमैन ने कहा कि कोरोना संक्रमण से पीड़ित अति गंभीर मरीजों को इस परिस्थिति में प्लाज्मा की बेहद जरूरत होती है, ऐसे में प्रशासनिक स्तर पर इस जरूरत को पूरा करने के लिए एनआईसी के माध्यम से प्लाज्मा डोनर रजिस्ट्रेशन प्लेटफार्म तैयार किया गया है।

डीसी ने बताया कि विश्वव्यापी कोरोना महामारी के अनुभवों से सीखते हुए जिला प्रशासन की व्यवस्थाओं का प्रबंधन करने में पूरी तरह से सजगता बरत रहा है। कोरोना से ठीक हुए लोगों को अपील की कि वे प्लाज्मा डोनेट करें ताकि अन्य मरीजों का उपचार आसानी से हो सके। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति जो कोरोना की बीमारी से ठीक हो चुका है वह 14 दिन के बाद अपना प्लाज्मा डोनेट कर सकता है। एक आदमी के प्लाज्मा डोनेट करने से 2 रोगियों को ठीक किया जा सकता है।

कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज के लिए यह प्रायोगिक प्रक्रिया है। प्लाज्मा में एंटीबॉडी होते हैं जो रोगी को लड़ने और बीमारी से उबरने में मदद कर सकते हैं। डीसी ने बताया कि जिले में शुरू हुए प्लाज्मा डोनर रजिस्ट्रेशन के लिए 18 से 60 वर्ष की आयु के ही व्यक्ति भागीदार बन सकते हैं।

खबरें और भी हैं...