पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीकाकरण जरूरी:जिले भर में अब तक 2 लाख 14 हजार को लग चुकी डोज

झज्जर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 18 साल से ज्यादा उम्र के 32 हजार से ज्यादा लोगों को लग चुका कोरोना से बचाव का टीका

जिले में 18 साल से ज्यादा के उम्र के 32000 से ज्यादा लोग अब तक कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीन लगवा चुके हैं। रविवार को 18 साल से ज्यादा की उम्र के 227 लोगों ने पहली डोज लगवाई, जबकि 45 साल से ज्यादा उम्र के 99 लोगों ने पहली डोज लगवाई। जिले में अब तक 2 लाख 14 हजार 513 लोगों को कोरोना की वैक्सीन लग चुकी हैं। रविवार 2 हेल्थ वर्कर ने वैक्सीन की डोज लगवाई। जबकि दूसरी डोज किसी भी हेल्थ वर्कर ने नहीं लगवाई। वहीं 0 फ्रंटलाइन वर्करों ने भी इस दिन पहली डोज नहीं लगवाई। इसी कैटेगरी के 15 लोगों ने दूसरी डोज लगवाई।

18 से 44 साल के 227 लोगों ने पहली डोज लगवाई। इस कैटेगरी के कुल 32567 लोगों को अभी तक वैक्सीन लगी है। इसी तरह 45 से 59 आयु के 99 लोग फर्स्ट डोज लगवाने आए। इस कैटेगरी के 11 लोगों ने सेकंड डोज लगवाई। 60 वर्ष की आयु के मात्र 31 लोगों ने फर्स्ट डोज लगवाई। इसी कैटेगरी के 1 ने दूसरी लगवाई। रविवार के दिन कुल डोज 386 लगी। पहली डोज 359 दूसरी डोज 27 लगी। जिले भर में वैक्सीनेशन का कुल आंकड़ा अब तक 214513 पहुंच चुका है।

कोरोना से दो की मौत, 24 संक्रमित मिले, रिकवरी रेट 97.7% पहुंचा

कोरोना महामारी से दूरी बनाते हुए जिले में दिनों दिन एक्टिव केस कम हो रहे हैं। जिले मेें रिकवरी रेट का आंकड़ा अब 97.7 फीसदी है। रविवार तक 146 कोरोना संक्रमित एक्टिव केस रहे। जिलेभर में अभी तक कुल 18637 कोरोना संक्रमित मरीज सामने आए, जिनमें से 18204 मरीज स्वास्थ्य सेवाएं लेते हुए अब पूर्ण रूप से स्वस्थ हो चुके हैं। रविवार को 84 कोरोना संक्रमित मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। जबकि 14 नए कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। 112 मरीज फिलहाल होम आइसोलेट हैं और स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा उनकी निरंतर निगरानी की जा रही है।

कुल कोरोना एक्टिव केस अब जिले में 146 रह गए हैं। झज्जर और बहादुरगढ़ को मिलाकर शहरी क्षेत्र के हैं। लिहाजा जिले के शहरी क्षेत्र में कोरोना वायरस के मामले अब खत्म होने के कगार पर हैं। हालांकि जिला स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन का कहना है कि जिस तरीके से एक टीम वर्क के रूप में और आम लोगों की सहायता से इस वायरस को शहरी क्षेत्र में खत्म करने का प्रयास हो रहा है तब सावधानी की भी काफी जरूरत है और इसमें विशेष तौर पर वैक्सीन लगाया जाना जरूरी है।

खबरें और भी हैं...