पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना टीका:अध्यापक बोले-वह कोविड-19 की ट्रेनिंग देने को तैयार, पहले सरकार उन्हें भी टीके लगवाए

झज्जरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गत दिवस हरियाणा सरकार ने शिक्षकों की ड्यूटी कोविड प्रोटोकॉल तथा होम आइसोलेशन में मरीजों के ध्यान रखने के बारे में सिखाने के लिए लगाई थी जिसकी ट्रेनिंग 12 मई तक ऑनलाइन होनी है। शिक्षकों के साथ ट्रेनिंग में आशा वर्कर, एएनएम, एमपीएचडब्लू को शामिल किया गया है।

इस बारे में राज्य प्रधान हसला सतपाल सिन्धु ने बताया कि शिक्षा विभाग पिछले साल से प्रवक्ताओं की ड्यूटी कोविड-19 महामारी के तहत लगा रहा है और प्रत्येक प्रवक्ता इन ड्यूटियों को पूरी निष्ठा, ईमानदारी व जान के जोखिम के साथ निभा भी रहा है। परन्तु प्रत्येक बार शिक्षा विभाग द्वारा लगाई गई ड्यूटियों में बहुत सी तर्कसंगत विसंतियाँ पाई जाती है। इस सन्दर्भ में राज्य प्रैस सचिव अजित चंदेलिया ने बताया कि हसला संगठन ने मुख्य सचिव हरियाणा सरकार के माध्यम से मुख्यमंत्री तथा शिक्षा मंत्री को ज्ञापन भेजा है।

अध्यापकों ने सीएम मांगी मांग

ज्ञापन में मांग कि गई है कि सभी प्रवक्ताओं का वैक्सीनेशन किया जाए तथा एंटी बॉडीज बनने के बाद उनकी ड्यूटी लगाई जाए, ड्यूटी पदानुक्रम, पद की गरिमा के अनुसार कार्यों में लगाई जाए। प्रवक्ताओं की उनके रिहाइशी इलाके के आस पास ही ड्यूटी लगाई जाए। प्रत्येक ड्यूटी के लिए समय अवधि निर्धारित हो।

कार्यस्थल से दूर ड्यूटी लगाए जाने पर नियमानुसार टीए, डीए दिया जाए और आवागमन के लिए सरकारी वाहन उपलब्ध करवाया जाए, यदि इन ड्यूटियों के दौरान किसी प्रवक्ता को कोरोना हो जाता है तो विभाग अपने स्तर पर कैशलेस पालिसी के अंतर्गत उसका इलाज करवाएं, यदि इन ड्यूटियों के दौरान किसी प्रवक्ता की मृत्यु हो जाती है तो उसे 1 करोड़ की मुआवजा राशि प्रदान की जाए तथा एनपी एस कर्मचारी को पुरानी पेंशन का लाभ दिया जाए।

खबरें और भी हैं...