नई शिक्षा नीति का विरोध:सर्व कर्मचारी संघ के 12 दिसंबर को हल्ला बोल कार्यक्रम में भाग लेगा अध्यापक संघ

झज्जर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरकार द्वारा लागू की जा रही नई शिक्षा नीति के विरोध में, अतिथि अध्यापकों को पक्का करवाने की नीति बनवाने व नई पेंशन नीति को वापस लेकर पुरानी पेंशन नीति बहाल करवाने की मांग को लेकर हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ 12 दिसंबर को सर्व कर्मचारी संघ के जिला उपायुक्त कार्यालय पर होने वाले हल्ला बोल कार्यक्रम में बढ़-चढ़कर भाग लेगा। हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ के जिला प्रधान मंजीत गुलिया, सचिव संदीप गुलिया, कोषाध्यक्ष सुनील कुमार व जिला कार्यकारिणी सदस्य इंद्रजीत ने संयुक्त ब्यान जारी करते हुए कहा कि केंद्र सरकार द्वारा लागू की जा रही नई शिक्षा नीति शिक्षा के निजीकरण को बढ़ावा देगी। सरकारी स्कूलों से 2 कक्षाओं के बाहर चले जाने के कारण 40% प्राथमिक शिक्षकों के पद सरप्लस होंगे। नई भर्तियों पर रोक लगेगी। इसी कारण से अध्यापक संघ नई शिक्षा नीति का पुरजोर विरोध कर रहा है। इसी प्रकार 16 वर्षों से कार्यरत अतिथि अध्यापकों को नियमितीकरण की पॉलिसी बनाकर पक्का किया जाए। जब तक पॉलिसी नहीं बनती, तब तक नियमित कर्मचारी की तर्ज पर पूरा वेतनमान और भत्ते दिए जाएं। नई पेंशन नीति को वापस लेकर पुरानी पेंशन नीति बहाल की जाए, जब तक पुरानी पेंशन नीति बहाल नहीं होती तब तक एनपीएस में रिटायर होने वाले कर्मचारियों को मेडिकल रीइंबर्समेंट, लीव एनकैशमेंट और कम्युटेशन जैसी सुविधाएं दी जाएं।

खबरें और भी हैं...