पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ट्रेनिंग:वर्करों को बताया घरेलू हिंसा निजी मामला नहीं

झज्जर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • यह सभी का मामला है तथा सभी को घरेलू हिंसा को रोकने के लिए कदम उठाने की जरूरत

महिला व बालविकास विभाग के सहयोग से डावला समुदाय में दस गांव की 34 आंगनबाड़ी वर्करों के साथ घरेलू हिंसा को लेकर ट्रेनिंग का आयोजन किया। ट्रेनिंग में घरेलू हिंसा से महिला संरक्षण अधिनियम 2005 को लेकर विस्तार से चर्चा की गई तथा उपस्थित आंगनबाड़ी वर्करों को बताया गया कि घरेलू हिंसा किसी का निजी मामला नहीं है।

बल्कि यह सभी का मामला है तथा सभी को घरेलू हिंसा को रोकने के लिए कदम उठाने की जरूरत है।ट्रेनिंग के दौरान ब्रेकथ्रू से मुख्य वक्ता मनोज ने घरेलू हिंसा के प्रकार, घरेलू हिंसा की रिपोर्ट की शिकायत कहा की जा सकती है, घरेलू हिंसा की स्थिति में पीड़ित महिला को मिलने वाले अधिकारों को लेकर विस्तार से बताया गया। इस दौरान महिला सुपरवाइजर मीनाक्षी ने कहा कि घरेलू हिंसा पर रोक तभी लगेगी जब पीड़ित महिला खुद से मजबूत होकर इस हिंसा के खिलाफ आवाज उठाए। महिला सुपरवाइजर सुमिता, आंगनबाड़ी वर्कर सुषमा शामिल रही।

खबरें और भी हैं...