पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रदर्शन:बसपा और प्रजा भलाई संगठन के कार्यकर्ताओं ने तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की

कनीना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बसपा व प्रजा भलाई संगठन के कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपति काे भेजा ज्ञापन

तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने व किसानों की मांगों को लेकर गुरुवार को बहुजन समाज पार्टी और प्रजा भलाई संगठन के कार्यकर्ताओं ने कनीना में उपमंडल अधिकारी नागरिक के कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया।

प्रदर्शन का नेतृत्व बसपा नेता ठाकुर अतरलाल एडवोकेट ने किया। इस माैके पर उन्हाेंने कहा कि तीनों कृषि कानून किसान विरोधी तथा जन विरोधी हैं। इसलिए केन्द्र सरकार तत्काल तीनों कानूनों को रद्द कर चौथा एमएसपी गारंटी वाला कानून किसान संगठनों से विचार विमर्श कर बनाए।

उन्होंने आरोप लगाया कि केन्द्र सरकार किसानों की मांगों की अनदेखी कर रही है। बाद में प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन उपमंडल अधिकारी नागरिक कनीना को सौंपा। ज्ञापन में तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने, न्यूनतम समर्थन मूल्य गारंटी का चौथा कानून किसानों से विचार विमर्श कर बनाने, किसान आंदोलन में जान गंवा चुके शहीद किसानों के प्रत्येक परिवार को एक करोड़ रुपए तथा सरकारी नौकरी देने, आंदोलन के दौरान किसानों पर बनाए गए झूठे मुकदमे वापस लेने तथा किसानों का उत्पीड़न बंद करने की मांगे की।

एसडीएम ने ज्ञापन को तत्काल सरकार को प्रेषित करने का भरोसा दिया। इस दौरान प्रदीप पाथेड़ा, बलजीत पाथेड़ा, राजेन्द्र सिहोर, दिवान, चौ. सुगनचंद, मदन सिंह, रामकुवार, घनश्याम सिंह, प्रताप सिंह, अजीत सिंह तंवर, पूर्ण सिंह, कैलाश सेठ, मनोहरलाल, राजबीर, लक्ष्मीनारायण, किशनपाल सिंह, मीर सिंह वैद्य, औमप्रकाश, मुकेश स्वामी, राजेन्द्र सिंह, रामबीर पंच, शेर सिंह, पवन, धीरज, सुरेश, बजरंग आदि अनेक कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

आम आदमी पार्टी ने आंदोलनकारी किसानों पर की गई पुलिस कार्रवाही की निंदा की

महेंद्रगढ़|केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीन कृषि कानूनों को निरस्त करवाने की मांग को लेकर चालीस दिनों से अनेक राज्यों के किसान ठंड में दिल्ली बॉर्डर पर डटे हैं, परन्तु किसानों की समस्या को लेकर मोदी सरकार गंभीर नहीं है। एक तरफ तो किसानों के सामने हाथ जोड़कर नतमस्तक होने की बात करते हैं। दूसरी तरफ किसान नेताओं को बातचीत पर बुलाकर तारीख पे तारीख देते हैं। जो सरकार की नाकामी एवं किसानों के प्रति सोच को दर्शाता है। ये विचार आम आदमी पार्टी साऊथ जोन हरियाणा की संयुक्त सचिव पंकज बाला मालड़ा ने प्रेस के नाम जारी बयान में व्यक्त किए। उन्होंने धारूहेड़ा सहित अनेक जगहों पर आंदोलनकारी किसानों पर पुलिस द्वारा आंसू गैस के गोले दागने और किसानों को रात के समय में नाजायज तंग करने वाली घटना की निंदा की तथा आंदोलन में शहीद हुए जवानों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की। आप नेत्री पंकज बाला मालड़ा ने हरियाणा सरकार पर किसानों के आंदोलन को कमजोर करने के लिए एसवाईएल के मुद्दे पर रैलियां करने का आरोप भी लगाया। ताकि हरियाणा और पंजाब के किसानों में फूट डल जाए और किसानों का आंदोलन कमजोर हो जाए। लेकिन अबकी बार किसान सरकार के किसी भी बहकावे में नही आएंगे और जब तक केंद्र सरकार तीनों काले कानूनों को रद्द नही करती है तब तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने केंद्र सरकार से किसानों की मांगों का समाधान जल्द से जल्द करने तथा इस आंदोलन में अब तक शहीद होने वाले किसानों को एक एक करोड़ रुपए की सहायता राशि तथा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की भी मांग की।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें