राइट टू वोट:कनीना बार एसोसिएशन के चुनावों के लिए पीओ व एपीओ नियुक्त

कनीना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कनीना में बैठक के दौरान उपस्थित अधिवक्तागण। - Dainik Bhaskar
कनीना में बैठक के दौरान उपस्थित अधिवक्तागण।
  • राइट टू वोट के लिए पांच सदस्यों की कमेटी का किया गया गठन

कनीना बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं की एक बैठक गुरुवार को प्रधान कुलदीप रामबास की अध्यक्षता में हुई। जिसमें बार काउंसिल ऑफ पंजाब एंड हरियाणा की हिदायत अनुसार 17 दिसम्बर को बार एसोसिएशन के चुनाव करवाने व 31 अक्टूबर तक चुनाव अधिकारी नियुक्त करके बार का को सूचित करने पर विचार-विमर्श किया गया।

बैठक में विभिन्न अधिवक्ताओं के द्वारा अपने-अपने सुझाव दिए गए। जिसके बाद सर्वसम्मति से अधिवक्ता विजय सिंह को पीओ व अभिषेक यादव को एपीओ नियुक्त किया गया। राइट टू वोट के लिए बार एसोसिएशन के सदस्यों के सुझाव अनुसार निष्पक्ष पांच सदस्यों की कमेटी गठित की गई। जिसमें चेयरमैन विक्रम सिंह, निहाल सिंह, गिरवर लाल कौशिक, विनोद कुमार व विजय को नियुक्त किया गया।

उन्होंने बताया कि जिस भी अधिवक्ता ने 25 अक्टूबर से पहले बार एसोसिएशन कनीना में अपना रजिस्ट्रेशन करवा लिया वे अधिवक्ता ही 17 दिसम्बर को होने वाले चुनावों में भाग ले सकेंगे। जो अधिवक्ता 25 अक्टूबर के बाद कनीना बार एसोसिएशन में अपनी सदस्यता के लिए रजिस्ट्रेशन करवाता है तो उसको 17 दिसम्बर 2021 के चुनाव में भाग लेने का हक नहीं रहेगा।

बैठक में प्रधान पद के उम्मीदवार के लिए सिक्योरिटी फीस 3100 रुपए, उपप्रधान व सचिव के पद के लिए सिक्योरिटी फीस 2100 रुपए और सह-सचिव व खजांची के पद के लिए उम्मीदवार के लिए सिक्योरिटी फीस 1100 रुपए निर्धारित की गई। बैठक में चुनाव उम्मीदवारों का खर्चा सीमा प्रत्येक उम्मीदवार 50 हजार रुपए निर्धारित किया गया।

उम्मीदवार चुनाव अधिकारी को अपने खर्चे का ब्योरा देने के लिए पाबंध रहेंगे और उच्चतम न्यायालय बार काउंसिल ऑफ इंडिया व बार काउंसिल पंजाब एंड हरियाणा की गाइड लाइन्स की पालना करने को उम्मीदवार पाबंध रहेंगे। उलंघन करने की स्थिति में पीओ व एपीओ को उम्मीदवार को नोटिस देकर नियमानुसार उम्मीदवार का नोमिनेशन कैंसिल करने का अधिकार होगा।

आचार संहिता के दौरान कोई भी उम्मीदवार रात्रि 7 बजे के बाद किसी भी अधिवक्ता के घर पर जाकर कोई कैम्पेनिंग नियम व शर्तों के विरूद्ध करता पाया जाता है तो पीओ व एपीओ को उम्मीदवार को नोटिस देकर नियमानुसार उसका नोमिनेशन कैंसिल करने का हक हासिल होगा व उम्मीदवार पाबंध होंगे।

बार प्रधान ने बताया कि जो अधिवक्ता अपना राइट टू वोट बार एसोसिएशन कनीना में कास्ट करना चाहते है वो 25 अक्टूबर तक अपना मासिक भत्ता व शपथ पत्र बार एसोसिएशन कनीना के क्लर्क संजीत के पास जमा करवाए यदि कोई अधिवक्ता उपरोक्त शर्तों की अवहेलना करता है तो उसके खिलाफ नियमानुसार कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

खबरें और भी हैं...