सांसद का विरोध:महम में सांसद जांगड़ा को किसानों ने दिखाए काले झंडे, भाजपा सांसद के विवादित बयान पर किसानों में गुस्सा, बोले-मांफी मांगे

महमएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महम में बैरिकेडिंग हटाने को लेकर पुलिस से झड़प करते किसान। - Dainik Bhaskar
महम में बैरिकेडिंग हटाने को लेकर पुलिस से झड़प करते किसान।

किसानों पर विवादित देने पर भाजपा सांसद रामचंद्र जांगड़ा का महम में विरोध किया। श्री कृष्ण गोशाला में गुरुवार को हुए कार्यक्रम में सांसद जांगड़ा के आने का किसानों ने विरोध किया। हालांकि, गोशाला के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया, लेकिन सांसद अपनी गाड़ी छोड़कर चुपके से भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शमशेर खरकड़ा की कार से गोशाला पहुंचे।

इसका पता चलने पर किसानों ने गोशाला में घुसने का प्रयास किया तो पुलिस ने बैरिकेडिंग कर उन्हें रोक लिया। इससे किसान भड़क गए। उन्होंने पुलिस के साथ झड़प करते हुए बैरिकेडिंग हटा दी। पुलिस ने गोशाला के मुख्य द्वार को बंद कर दिया। किसान सांसद के खिलाफ नारेबाजी करते हुए गोशाला के बाहर धरना दे बैठ गए। करीब एक घंटे बाद जब सांसद बाहर निकले तो किसानों ने उन्हें काले झंडे दिखाते हुए उनकी गाड़ी को रोकना चाहा, लेकिन पुलिस ने सांसद को सुरक्षित निकाल दिया।

भारतीय किसान सभा के जिलाध्यक्ष प्रीत सिंह, बलवान, नेहरा खाप युवा के राष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप नेहरा आदि ने कहा कि सांसद जांगड़ा ने किसानों को लेकर विवादित बयान दिया है वह किसी भी तरह से जायज नहीं है। उन्होंने इस बयान पर सांसद से माफी मांगने की बात कही है। किसानों ने कहा यदि सांसद ने अपने शब्द वापस नहीं लिए तो उन्हें किसी भी कार्यक्रम में घुसने नहीं दिया जाएगा।

21 लाख रुपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा

महम की श्री कृष्ण गोशाला में गुरुवार को कार्यक्रम किया गया था। इसमें भाजपा सांसद रामचंद्र जांगड़ा ने 21 लाख रुपए की आर्थिक सहायता गोशाला में देने की घोषणा की। इसके अलावा, हर साल 5 लाख रुपए देने की बात भी कही।

खबरें और भी हैं...