पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अटेली उपचुनाव:अयोग्य ठहराए गए 3 प्रत्याशी फिर जीते वार्ड-7 में निवर्तमान पार्षद का बेटा व वार्ड-9 में भतीजी जीती

मंडी अटेली12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अटेली उपचुनाव में मतदान के बाद अंगुली पर लगा निशान दिखाते हुए। - Dainik Bhaskar
अटेली उपचुनाव में मतदान के बाद अंगुली पर लगा निशान दिखाते हुए।

अटेली नगरपालिका के 5 वार्डों के उप-चुनाव रविवार को शांतिपूर्ण संपन्न हुए। सुबह 8 से शाम साढ़े 4 बजे तक मतदान हुआ। इसके बाद शाम को ही विजेता प्रत्याशियों की घोषणा कर दी गई। सीटीएम एवं रिटर्निंग अधिकारी अमित कुमार व सहायक रिटर्निंग अधिकारी तहसीलदार राजेश कुमार ने सभी नवनिर्वाचित पार्षदों को नगर पालिका हाउस बुलाकर प्रमाण-पत्र प्रदान किए।

चुनाव प्रक्रिया पर फरीदाबाद की अतिरिक्त कमिश्नर डॉ. वैशाली ने इलेक्शन ऑब्जर्वर के तौर पर विशेष निगरानी रखी। अटेली कस्बे में वर्तमान चेयरमैन जितिन अग्रवाल व पूर्व चेयरमैन संजय गोयल गुट आपस में एक होने पर उपचुनावों में किसी भी वार्ड में कड़ा मुकाबला देखने को नहीं मिला। केवल वार्ड-3 में ही मामूली टक्कर दिखी। चुनाव परिणामों के अनुरूप पहले वाले ही पार्षद फिर से जीतकर नपा के हाउस में पहुंचे हैं।

अयोग्य ठहराए गए तीन पार्षद फिर से चुने गए हैं। वहीं वार्ड-7 से हितेश मुदगिल ने जीत दर्ज की। इस वार्ड से उनके पिता अजय मुदगिल थे, जबकि वार्ड-9 से शिवानी विजेता रही। गत चुनावों में उनकी चाची सुनीता पार्षद थी, लेकिन कोरोना के चलते उसकी मौत हो गई। अटेली में लंबे समय से तीसरे गुट के रूप में करने वाले इस चुनाव में मुंह की खानी पड़ी हैं।

विधायक सीताराम यादव ने विजयी पार्षदों को बधाई दी। इस उपचुनाव में पार्षद संजय गोयल गुट मजबूती से सामने आए है। संजय गोयल ने कहा कि विधायक के प्रयासों से हमारी एकता कायम हुई शहर के विकास के लिए सहायक बनेगी। वहीं नपा के चेयरमैन जितिन अग्रवाल के चाचा राकेश अग्रवाल ने कहा कि इन उपचुनावों से झूठ की दुकान बंद हुई है।

इन चुनावों में वार्ड-3 में कुछ मुकाबला हुआ, लेकिन किसी वार्ड में भी मुकाबला नहीं हुआ। इन चुनावों में पूर्व चेयरमैन बोहतराम यादव के पोते वार्ड-3 से चुनाव लड़ रहे थे, जिनको हार नसीब हुई। वहीं तीन वार्डों से चुनाव लड़ने वाली मोनिका तीनों वार्डों से बुरी तरह से हारी। अधिकतर प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई।

सुरक्षा व्यवस्था चौकस रही: मतदान शांतिपूर्वक निष्पक्ष व भय रहित करवाने के लिए एक मतदान केंद्र पर एक मतदान केंद्र पर बड़ी संख्या में पुलिस कर्मी तैनात रहे। थाना प्रभारी राजेंद्र सिंह ने बताया कि मतदाताओं को किसी प्रकार से प्रभावित ना करे, इसके लिए पुलिस ने विशेष गश्त की।

वार्ड-7 से 21 वर्षीय हितेश मुदगिल सबसे छोटी उम्र के पार्षद बने

वार्ड-7 से जीतने वाले प्रत्याशी हितेश मुदगिल सबसे छोटी उम्र के पार्षद बने हैं। जिनकी जन्म तिथि 17 मार्च 2000 है जो 21 वर्ष के है। वहीं वार्ड-4 से संजय गोयल इन चुनावों में चौथी बार पार्षद बने। इससे पहले इनकी पत्नी पार्षद बनकर चेयरपर्सन रह चुकी हैं। इनके दादा गुलजारीमल भी अटेली के पहले चेयरमैन रहे हैं।

मतदाता सूची में सामने आई खामियां

वार्ड-3 में कुल 514 वोट थे लेकिन एक ही युवक के मतदाता सूची में दो-दो वोट फोटो के साथ दिखाई दे रहे थे। इसके अलावा वार्ड-9 की मतदाता सूची में उन व्यक्तियों के वोट भी थे जिनका कई वर्ष पहले निधन हो चुका है। इसके अलावा वोट महिला का लेकिन फोटो पुरूष की जैसी खामियां मतदाता सूची में सामने आईं। वार्ड-9 में रहने वाली कृष्ण देवी व उनके परिवार का नाम सूची नहीं मिला तो उन्हें बिना वोट डाले बैरंग लौटना पड़ा।

खबरें और भी हैं...